Home » Tag Archives: मां माटी मानुष

Tag Archives: मां माटी मानुष

अपना रामराज बौद्ध हो गया और राजनीतिक भी, इसलिए हमें उससे परहेज करना चाहिए? ये सवाल खुद से हैं और आपसे भी!

Dr. Udit Raj

लू (hot wind) और काल बैसाखी (Kal Baisakhi) के मध्य तैंतीस साल बाद एक मुलाकात! दलित मूलनिवासी आंदोलन (Dalit Mulniwasi Movement) को छोटी-छोटी मामूली सामाजिक घटनाओं से कुछ सबक लेना चाहिए। वरिष्ठ पत्रकार और हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार पलाश विश्वास (Palash Biswas) का यह आलेख मूलतः May 21, 2012 को प्रकाशित हुआ था। आलेख आज भी प्रासंगिक है। हस्तक्षेप के …

Read More »

कब्रिस्तान या श्मशान में तब्दील निजी अस्पतालों के शिकंजे से बचने के लिए मेहनतकशों के अपने अस्पताल जरूरी!

  पलाश विश्वास इस मुक्त बाजार में असल कब्रिस्तान और श्मशानघाट कारपोरेट पूंजी के हवाले स्वास्थ्य बाजार है। सार्वजनिक स्वास्थ्य से राष्ट्र का पल्ला झाड़ लेनेके बाद हम इसी कारपोरेट स्वास्थ्य बाजार के हवाले हैं। जनस्वास्थ्य के लिए सरकारें अब स्वास्थ्य हब बना रही है। गली गली गांव गांव मोहल्ला मोहल्ला नई संस्कृति का मकड़ जाल बुनते हुए बार रेस्तरां …

Read More »

देश में सबसे ज्यादा दहेज उत्पीड़न के मुकदमे बंगाल में, बलात्कार सुनामी के बाद दहेज हत्याओं का अंतहीन सिलसिला

अब देश में सबसे ज्यादा दहेज उत्पीड़न के मुकदमे बंगाल में बलात्कार सुनामी के बाद दहेज हत्याओं का अंतहीन सिलसिला सबिता बिश्वास हम लोग बड़े गर्व से कहा करते थे कि बंगाल में कमसकम विवाह के मामले में जाति धर्म की कोई दीवार नहीं है। यहां अंतरजातीय, अंतरभाषाई और अंतरधर्मीय विवाह में आम तौर पर कोई सामाजिक अड़चन नहीं पैदा …

Read More »

यादवपुर विश्वविद्यालय की छात्राओं के लिए भाजपा के अपशब्द

धर्मोन्मादी हिंदुत्व की नई संस्कृति का भयंकर नजारा केसरिया बंगाल भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने साफ-साफ कह दिया कि यादवपुर विश्वविद्यालय की लड़कियां बेशर्म हैं। उन्होंने छेड़खानी की आधारहीन शिकायत दर्ज कराई है। वे लड़कों के ऊपर लेटी रहती हैं और बाद में छेड़खानी की शिकायत दर्ज कराती हैं। एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास कोलकाता (हस्तक्षेप) संघ …

Read More »

तृणमूल समर्थक एक्जिट पोल में मोदी-दीदी गठबंधन का खुलासा

तृणमूल के हक में 184 सीटों का दावा और भाजपा को नौ सीटें जबकि वामदलों को सिर्फ 62 और कांग्रेस को 32 सीटें… कोलकाता से राहुल सिन्हा, हावड़ा से रूपा गागुली और मयुरेश्वर से लाकेट चटर्जी को सीटें दे दी मां माटी मानुष ने… दक्षिण बंगाल में दीदी का किला जस का तस हो तो भाजपा को नौ सीटें कैसे …

Read More »

इस कॉरपोरेट लोकतंत्र में न बच्चे सुरक्षित हैं और न ग्लेशियर! मासूम बच्चों की लाशें अब हमारी जम्हूरियत है

गनीमत है कि कंस मामा का अवतार हुआ नही है अभी और गोकुल के हर बच्चे को मारने का फतवा फिलहाल जारी नहीं है একের পর এক হামলা শাসক দলের, রেহাই নেই দুধের শিশুরও ‘सुना है पड़ोस के जंगल में आग लगी है!’ कानाफूसी करते घबराए पेड़ अपू और दुर्गा नख से सिर तक लहूलुहान उसी आग में जिंदा जल …

Read More »

बंगाल में चुनावी हिंसा मध्य फांसी का सिलसिला सत्ता के लिए कयामत

शराब के कुटीर उद्योग के विरोधी बारासात के सौरभ की हत्या के मामले में आठ को फांसी एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास कोलकाता (हस्तक्षेप)। फिर बम इंडस्ट्री में धमाका हो गया। कामदुनि बलात्कार कांड और नदिया हत्याकांड के बाद बामून गाछी सौरभ हत्याकांड में आठ लोगों को फांसी की सजा सुनायी गयी है। वोट बाजार में खलबली है कि ऐन मतदान से …

Read More »

आखिर दीदी को नोटिस थमाया आयोग ने। भूत नाच रहे हैं और संघियों को धो भी रहे हैं!

मैं जो बोली उस पर कोई पछतावा नहीं, हजार बार यही बात कह सकती हूं : ममता बनर्जी संघ परिवार के आत्मध्वंस का खेल बंगाल में अब तमाशा जोरदार दीदी को जिताने की जिद न छोडें केंद्रीय नेतृत्व तो समझ लीजिये कि अब तक भाजपाई बंगाल में जितने पिटे हैं,वह कुछ नहीं है क्योंकि बंगाल के संघियों को रोने की …

Read More »

बंगाल- बेहतर हो कि मतदान से पहले सत्तादल को विजयी घोषित कर दें !

बेहतर हो कि मतदान से पहले सत्तादल को विजयी घोषित कर दें ताकि अमन चैन बहाल हो और लू की मार झेलते लोगों को अपनी जान माल दांव पर लगाना न पड़े! क्योंकि मुख्यमंत्री ने तृणमूल की तय जीत के नतीजे का ऐलान करके इंच-इंच हिसाब लेने की धमकी दी है। वीरभूम में वीरगति किस किसकी होगी कोई जाने ना, …

Read More »

बंगाल-जब तक चुनाव आयोग और केंद्र सरकार मेहरबान, बांस के जंगल में खिलेंगे फूल

भूतों का नाच काफी नहीं, जीत के लिए जनता की अदालत में दीदी, मान भी लिय़ा कि घूसखोरी हुई है और जांच का वादा भी कर दिया! भूतों का क्या है, जब तक चुनाव आयोग और केंद्र सरकार और उनकी एजंसियां मेहरबान हैं, बांस के जंगल में खिलेंगे फूल वरना हालात खराब इतने हैं कि साफ हो जायेगा तृणमूल! एक्सकैलिबर …

Read More »