Home » Tag Archives: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

Tag Archives: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

#AyodhyaVerdict : मायूस होने की जगह चीजों को समझने और आगे बढ़ने की जरूरत है

Babri Masjid. (File Photo: IANS)

#AyodhyaVerdict : मायूस होने की जगह चीजों को समझने और आगे बढ़ने की जरूरत है 9 नवम्बर 2019 को बाबरी मस्जिद-राम मंदिर विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है। सरल लोगों की उम्मीद के विपरीत जो यह समझते थे कि राजनीतिक राम का विवाद समाप्त हुआ, अब आगे बढ़ने की जरूरत है लेकिन केरल जैसे राज्य में सुप्रीम …

Read More »

पकड़ा गया सरदार पटेल पर संघ-मोदी का झूठ

भारत के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल (First Home Minister of India, Sardar Vallabhbhai Patel)

आखिर, किस मुंह से संघ-मोदी कहते हैं कि सरदार पटेल उनके थे; इस बात का कहीं कोई प्रमाण तो है नहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) और भाजपा-दोनों सरदार वल्लभ भाई पटेल (Sardar Vallabh Bhai Patel) को अपनी विचारधारा वाला बताने की कोशिश में लगातार लगे रहते हैं। वे यह भी जताने के प्रयास में रहते हैं कि कांग्रेस …

Read More »

भारत में लोकतंत्र का भविष्य

opinion, debate

जनता के द्वारा, जनता के लिये, जनता की सरकार के लोकतंत्र का अथवा उस लोकतंत्र का जो ज़िंदा तो रहेगा लेकिन अधिनायकवाद के नीचे घुटी घुटी साँसे लेते हुए। जिसमें वोट देने का अधिअकार तो होगा, पर केवल, प्रत्येक 5 साल में एक नेता का राजतिलक करने के लिये। उसे अपनी आवश्यकताओं को प्रगट करने और उनकी पूर्ति के लिये कोशिशें करने पर अपराधी मान जाएगा।

Read More »

एक अशिक्षित नेतृत्व से भारत को मुक्त करने का समय आ गया है

Narendra Modi An important message to the nation

आदमी के गठन में उसके इर्द-गिर्द के लोगों की उससे की जाने वाली अपेक्षाओं की बड़ी भूमिका होती है। आतंकवादियों की सोहबत (organization of terrorists) में रहने वाला आदमी हमेशा अपने आतंकवादी मित्रों की अपेक्षाओं में ही खरा उतरने की कोशिश करता रहता है। इस प्रकार निकट के लोगों की नज़रें आदमी की सूरत (appearance of the man) को तैयार …

Read More »

घटता हुआ मतदान बाबू समझो इशारे

Kanhmun: An elderly woman shows her inked finger after casting her vote for the Mizoram Assembly elections in Kanhmun, Mizoram on Nov 28, 2018. (Photo: IANS)

लोकसभा चुनावों के दूसरे चरण (Second phase of Lok Sabha elections 2019) में तथाकथित मतदाता जागरूकता अभियानों के बावजूद 95 क्षेत्रों में 68 प्रतिशत ही मतदान हो पाया है, जो 2014 के मुकाबले कई प्रतिशत कम है। कश्मीर घाटी स्थित श्रीनगर लोकसभा सीट पर तो यह न्यूनतम रहकर 25 प्रतिशत तक भी नहीं पहुंच सका। अलबत्ता, कश्मीर घाटी में पहले …

Read More »

धोखे से बने प्रधान मंत्री असल में नरेन्द्र मोदी हैं, जशोदा बहन का पासपोर्ट क्यों नहीं बनने दे रही सरकार ?

Tum Mujhe Apni Azadi do Main Tumhen Vikas doonga Narendra modi

संदीप पांडेय          अनुपम खेर ने अपनी हाल ही में बनी फिल्म में डॉ. मनमोहन सिंह को धोखे से बना प्रधान मंत्री बताया है जबकि हकीकत यह है कि यदि कांग्रेस दोबारा चुनाव जीत कर आती है तो मनमोहन सिंह पुनः प्रधान मंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं। उनको चुनौती देकर जीतकर आए प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से इतनी …

Read More »

अपंजीकृत संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सर्वोच्च न्यायालय को धमकी

national news

Unregistered organization Rashtriya Swayamsevak Sangh threatens the Supreme Court न्यायालय अपनी सीमा-रेखा का अतिक्रमण न करे : आरएसएस लखनऊ, 25 दिसंबर (एजेंसी| अपंजीकृत संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने यहां मंगलवार को कहा कि न्यायालय को अपनी सीमा-रेखा का ख्याल रखना चाहिए। न्यायालय ने सबरीमाला और जलीकट्टू मामले में तो त्वरित निर्णय दिया, जबकि …

Read More »

अंग्रेज़ों भारत छोड़ो आंदोलन 1942 और हिंदुत्व टोली : एक गद्दारी – भरी दास्तान

syama prasad mukherjee in hindi

The British Quit India Movement 1942 and the Hindutva Toli: A Traitor’s Story इस 9 अगस्त 2018 को भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक अहम मील के पत्थर, ऐतिहासिक ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ को 76 साल पूरे हो जायेंगे। 7 अगस्त 1942 को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति ने बम्बई में अपनी बैठक में एक क्रांतिकारी प्रस्ताव पारित किया जिसमें अंग्रेज शासकों से …

Read More »

भारत छोड़ो आन्दोलन में संघ ने भाग नहीं लिया क्योंकि अंग्रेज भक्ति ही उनकी देशभक्ति थी

RSS Half Pants

यह सत्य है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ 1942 के ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ से अलग रहा। उसने संघ के नाते उसमें भाग नहीं लिया।

Read More »

गांधी को हमने राष्ट्र की सीमा में बांध दिया, जबकि वह किसी भी सीमा से परे थे-प्रकाश भाई शाह

Mahatma Gandhi

गांधी ने लोकतांत्रिक संस्थानों में जन भागीदारी की वकालत की थी, जन को जोड़ने की उन्होंने पूरी कोशिश भी की, लेकिन सरकारों ने इसके उलट काम किया। परिणामस्वरूप आज संस्थान बेजान बन कर रह गए हैं

Read More »