वीरेन डंगवाल

No Image

संघ परिवार को बंगाल की चुनौती : हिंदुत्व और हिंदू राष्ट्रवाद के कट्टर विरोधी रवींद्र नाथ को निषिद्ध करके दिखाये

पलाश विश्वास संदर्भः आज रवींद्र नाथ को प्रतिबंधित करने की चुनौती देता हुआ बांग्ला दैनिक आनंद बाजार पत्रिका में प्रकाशित सेमंती घोष का अत्यंत प्रासंगिक आलेख, जिसके मुताबिक रवींद्र नाथ का व्यक्तित्व कृतित्व संघ परिवार…


No Image

जनांदोलनों की मां और हजार चौरासवीं की मां महाश्वेता दी हमारे लिए जनप्रतिबद्धता का मोर्चा छोड़ गयीं

जंगल के दावेदार महाश्वेता देवी, महाअरण्य की मां, जनांदोलनों की मां और हजार चौरासवीं की मां महाश्वेता दी हमारे लिए जनप्रतिबद्धता का मोर्चा छोड़ गयीं  🙁  उन्होंने ही भारतभर के संस्कृतिकर्मियों को आदिवासी किसानों के…


No Image

कवि और पत्रकार नीलाभ अश्क नहीं रहे

माध्यमों की समग्र सोच और समझ वाले नीलाभ का जाना निजी और सामाजिक अपूरणीय क्षति है। पलाश विश्वास मशहूर कवि और वरिष्ठ पत्रकार नीलाभ अश्क का 70 साल की उम्र में निधन हो गया है।…


No Image

नीलाभ दमदार और बहु-आयामी व्यक्तित्व रखते थे

नीलाभ जी दमदार और बहु-आयामी व्यक्तित्व रखते थे. कोई उन्हें प्यार कर सकता था या उनसे नाराज़ हो सकता था, लेकिन उनकी अवहेलना नहीं कर सकता था. नीलाभ अश्क को जसम की श्रद्धांजलि नई दिल्ली।…


No Image

शहर को बड़ा बनाती है वीरेन डंगवाल की कविता

स्मृति: वीरेन डंगवाल एक कवि के सही बने रहने की कवायद सुधीर विद्यार्थी अपनी लंबी तकलीफ भरी कैंसर जैसी बीमारी को झेलते हुए वीरेन डंगवाल जब जिंदगी की उम्मीद के साथ ’ग्रीष्म की तेजस्विता और…


No Image

न कवि की मौत होती है और न कविता की

वीरेनदा आपको अपने बीच खड़े मिलेंगे उसी खिलंदड़ बेपरवाह अंदाज में हमेशा हमेशा सक्रिय! वीरेनदा के जनपद और उनकी कविता को समझने के लिए पहले जानें सुधीर विद्यार्थी को, फिर जरुर पढ़ें उनका संस्मरण वीरेनदा…


No Image

वीरेन डंगवाल को अलविदा नहीं कह पायेंगे।

लखनऊ। २८ सितंबर २०१५ को हिंदी के सुविख्यात कवि वीरेन डंगवाल का कैंसर से लड़ते हुए निधन हो गया था। उनकी याद में दिनांक ०३ अक्टूबर को लखनऊ के इप्टा ऑफिस में स्मृति सभा आयोजित…


No Image

दादरी के दोषी हिंदुत्ववादी हत्यारों को बचा रही है सपा सरकार- मो0 शुऐब

मुसलमानों की सुरक्षा की गारंटी करने में फेल हो चुका तंत्र मुसलमानों को आत्मरक्षा के लिए मुहैया कराए हथियार- राजीव यादव दलित ऐक्ट की तरह मुसलमानों से भेद-भाव रोकने के लिए बनाया जाए माइनॉरिटी ऐक्ट…


No Image

वीरेनदा का ठीक होना इस कविता के ठीक होने की ज़रूरी शर्त है

वीरेनदा का जाना और एक अमानवीय कविता की मुक्ति एक कवि और कर भी क्‍या सकता है / सही बने रहने की कोशिश के सिवा अभिषेक श्रीवास्‍तव वीरेन डंगवाल यानी हमारी पीढ़ी में सबके लिए…


No Image

बहुत खतरनाक है कि कश्मीर फिर जल रहा है। पूरा देश मुकम्मल गुजरात है।

उससे भी खतरनाक है कि हिंदू राष्ट्र का मिशन जलवा शबाब है और इंसानियत शिक कबाब है। अब पूरा देश मुकम्मल गुजरात है। अनंत मीडिया मधुचक्र को आखिर उत्सवों और कार्निवाल से ऐतराज क्यों हो?…