हिंदी साहित्‍य

No Image

झुमके वाली बरेली से गहरा नाता रहा उन मुंशी प्रेमचंद का जिन्होंने बताया था बहुत से हिन्दू कर्बला में हुसैन के साथ थे

मुंशी प्रेमचंद जयंती स्‍पेशल Munshi Premchand Jayanti Special बरेली, 31 जुलाई 2019. आज उपन्यास सम्राट और हिंदी कहानी के पुरोधा, प्रगतिशील साहित्यकार और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मुंशी प्रेमचंद की जयंती है। इस अवसर पर “झुमका…


Organizing Kabir Jayanti at Hindi University

संत कबीर संस्‍कार के सशक्‍त वाहक – प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल

वर्धा, 18 जून 2019 : संत कबीर (Saint Kabir) को हिंदी साहित्‍य (Hindi Sahitya) में भुलाया नहीं जा सकता। 700 वर्ष पूर्व सामाजिक समानता की दिशा में उनके कार्य आज के समाज के लिए प्रेरणादायी…


No Image

नक्सलबाड़ी और हिंदी साहित्य

Naxalbari and Hindi literature किसी भी समाज का साहित्य न सिर्फ उसके गतिविज्ञान को चित्रित करता है, बल्कि उससे रचनात्मक ऊर्जा के आदान-प्रदान के रिश्ते से भी जुड़ा होता है। नक्सलबाड़ी किसान विद्रोह के पचासवें…


No Image

हिंदी की स्त्री रचनाकारों का द्वन्द्व

Conflicts among female Hindi writers हिंदी साहित्य (Hindi Literature) विशेषकर स्त्री साहित्य (Female Literature) की सबसे बड़ी त्रासदी यह है कि हमारी जानीमानी लेखिकाएँ (Famous Writers) भी स्त्रीवाद (feminism), स्त्री-लेखन (Female Writing) जैसी कोटियों और…


debate opinion

कौन कहता है बाजार हिंदी को बिगाड़ रहा है!

Is the market spoiling Hindi? जो हिंदी भाषा के विकास पर शंका और क्षोभ जताते हैं, उनके ज्ञान के दयारे सीमित हैं। वे बंद आंखों से दुनिया और भाषा का आंकलन करते हैं। दुनिया में…