M.P. Progressive writers association

No Image

जब पुष्पा भारती को देख कर लोहिया बोले “चीज तो बहुत अच्छी है” !

गत दिनों भारत भवन में इला अरुण, के के रैना द्वारा परिकल्पित और निर्देशित नाटक ‘शब्द लीला’ के मंचन का समाचार पढ़ने को मिला। पिछले कुछ वर्षों में भारत भवन में आमंत्रण (Invitation to Bharat…