Home » Tag Archives: Research and pluralism

Tag Archives: Research and pluralism

शोध एक जैविक कर्म की प्रक्रिया है – प्रो. हनुमानप्रसाद शुक्‍ल

Mahatma Gandhi International Hindi University Wardha

शोध एक जैविक कर्म की प्रक्रिया है – प्रो. हनुमानप्रसाद शुक्‍ल ‘शोध एवं प्लेगरिज्म’ पर विशेष व्‍याख्‍यान Special lecture on ‘Research and plagiarism’ वर्धा, 28 अक्टूबर 2019:  महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय, वर्धा के भाषा विद्यापीठ तथा अनुवाद एवं निर्वचन विद्यापीठ के अधिष्‍ठाता प्रो. हनुमानप्रसाद शुक्‍ल ने कहा है कि शोध एक जैविक कर्म वाली प्रक्रिया है क्योंकि प्लेगरिज्म की उत्पत्ति …

Read More »