Home » समाचार » नोटबंदी की तीसरी पुण्यतिथि पर खिसियाए जेटली को चिदंबरम बोले, कोई जेटली को याद दिलाए नोटबंदी पर उन्होंने पहले क्या कहा था

नोटबंदी की तीसरी पुण्यतिथि पर खिसियाए जेटली को चिदंबरम बोले, कोई जेटली को याद दिलाए नोटबंदी पर उन्होंने पहले क्या कहा था

नोटबंदी की तीसरी पुण्यतिथि पर खिसियाए जेटली को चिदंबरम बोले, कोई जेटली को याद दिलाए नोटबंदी पर उन्होंने पहले क्या कहा था

नई दिल्ली, 08 नवंबर। नोटबंदी की तीसरी पुण्यतिथि Third Death Penalty of DEMONETIZATION पर जहां वित्त मंत्री अरुण जेटली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नोटबंदी के बचाव में खिसियाते से नज़र आए वहीं पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने जेटली पर वार करते हुए कहा कोई अरुण जेटली को याद दिलाए कि नोटबंदी पर उन्होंने पहले क्या कहा था।

बता दें नोटबंदी की तीसरी बरसी पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि नोटबंदी अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए सरकार की तरफ से उठाया गया महत्वपूर्ण कदम था। सरकार ने पहले भारत से बाहर कालेधन पर शिकंजा कसा।

नोटबंदी के बचाव में अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी का मकसद कैश को बैंकों के जरिए अर्थव्यवस्था में लाना था, न कि उसे जब्त करना।

जेटली की इस जबर्दस्त उलटबाँसी पर पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर कहा,

'वित्त मंत्री कहते हैं कि नोटबंदी का उद्देश्य मुद्रा की जब्ती नहीं था। क्या कोई उनको याद दिलाएगा कि उन्होंने मीडिया से क्या कहा था और अटॉर्नी जनरल ने उच्चतम न्यायालय को क्या बताया था?'

<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">FM says “Confiscation of currency was not an objective of demonetisation”. Will someone please remind him of what he told the media and what the AG told the Supreme Court?</p>&mdash; P. Chidambaram (@PChidambaram_IN) <a href="https://twitter.com/PChidambaram_IN/status/1060438081894076416?ref_src=twsrc%5Etfw">November 8, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

चिदंबरम ने कहा,

'तीन से चार लाख करोड़ रुपये हासिल करने का सपना था। बैंक काउंटरों पर मनी लॉन्ड्रिंग के कारण यह दिवा स्वप्न साबित हुआ।'

<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">The dream was to gain Rs 3 lakh to Rs 4 lakh crore. Thanks to the rampant money laundering at bank counters, that dream turned into a pipe dream</p>&mdash; P. Chidambaram (@PChidambaram_IN) <a href="https://twitter.com/PChidambaram_IN/status/1060438083999535105?ref_src=twsrc%5Etfw">November 8, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

बता दें 08 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। पीएम की यह घोषणा भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए आत्महत्या साबित हुई। नोटबंदी से अर्थव्यवस्था की कमर टूटी, कई लोग बैंकों की लाइन में मर गए, हजारों लोगों का रोजगार छिन गया, व्यापार चौपट हो गया।

नोटबंदी समाचार और भी हैं 

पुण्य प्रसून वाजपेयी ने मोदी से पूछा, “क्या क्या हो जाता है 59 मिनट में साहेब ?”

आरबीआई और जेटली विवाद : जरूरत है अर्थनीति के पूरे सोच को समस्याग्रस्त बनाने की

सर्वे से हुआ खुलासा, अच्छे दिनों में बढ़ गया भ्रष्टाचार, 12 फीसदी ज्यादा लोगों ने दी रिश्वत

मनमोहन का मोदी पर निशाना, नोटबंदी व जीएसटी से छोटे उद्योग प्रभावित हुए, नौकरियां घटीं

खुदरा बाजार टूट गया है, नोटबन्दी के बाद की स्थिति और भी भयावह ऊपर से जीएसटी की मार

विफल ‘मोदीनोमिक्स’ ने किया अर्थव्यवस्था को तार-तार

नोटबंदी से देश पर बड़ी चोट, रोजगार छिना, छोटे कारोबारियों पर चोट, 15-20 बड़े उद्योगपतियों को सीधे फायदा पहुंचाया गया : राहुल गांधी

नोटबंदी : 22 महीने बाद चौराहा चुना आपने, मोदी जी?

आरबीआई रपट के बाद साबित हुआ नोटबंदी 70 साल में सबसे बड़ा घोटाला, क्या माफी मांगेंगे मोदी ?

नोटबंदी : जनता की संपत्ति की इस तरह खुली लूट महमूद गजनवी ने भी नहीं की थी

दबाव बनाकर जीडीपी के आंकड़े बदलवाती है मोदी सरकार, फर्जी हैं सब… स्‍वामी का आरोप

8 नवंबर : नोटबंदी के झूठ की पहली बरसी…

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

<iframe width="600" height="538" src="https://www.youtube.com/embed/JMQPhfMGX0M" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

Related topics – DEMONETIZATION, Third Death Penalty of DEMONETIZATION, अरुण जेटली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, नोटबंदी, Notebandi news, Notebandi news in Hindi, Notebandi in Hindi, Demonetisation news,

About हस्तक्षेप

Check Also

media

82 हजार अखबार व 300 चैनल फिर भी मीडिया से दलित गायब!

मीडिया के लिये भी बने कानून- उर्मिलेश 82 thousand newspapers and 300 channels, yet Dalit …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: