Home » To raise and condemn threats to Senior Adv. Mahmood Paracha

To raise and condemn threats to Senior Adv. Mahmood Paracha

To raise and condemn threats to Senior Adv. Mahmood Paracha
A joint press conference by leaders of major Muslim organisations will be held tomorrow, Friday, 21 March 2014 – 3:30 pm — to raise and condemn the grave threats being received by Mr Mahmood Paracha, Senior Advocate, Supreme Court of India, from criminal gangs allegedly at the behest of Mumbai Police, due to his defending terror-accused and exposing the Police-ATS conspiracy to implicate innocent Muslim youth and spare real terrorists. The press conference has the support of Maulana Mahmood Madni, General Secretary, Jamiat Ulama-e Hind who is currently in Mumbai.

Venue: Mushawarat Central Office
D-250 Abul Fazal Enclave-I. Jamia Nagar, New Delhi – 110025
Day and Time: Friday, 21 March 2014 — 3:30 p.m.

Speakers
Mr Mahmood Paracha, Senior Advocate, Supreme Court of India
Dr. Zafarul-Islam Khan, President, All India Muslim Majlise Mushawarat
Maulana Nusrat Ali, General Secretary, Jamaat-e Islami Hind
Maulana Asghar Ali Imam Mehdi Salafi, General Secretary, Jamiat Ahl-e Hadees
Mr Mujtaba Farooq, President, Welfare Party of India
Mr Masoom Moradabadi, Editor, Daily Jadeed Khabar
Maulana Ataur Rahman Qasmi, Chairman, Shah Waliullah Institute
Dr Tasleem Rahmani, President, Muslim Political Council of India
Akhlaq Ahmad, Secretary, Association for Protection of Civil Rights

About हस्तक्षेप

Check Also

भारत में 25 साल में दोगुने हो गए पक्षाघात और दिल की बीमारियों के मरीज

25 वर्षों में 50 फीसदी बढ़ गईं पक्षाघात और दिल की बीमांरियां. कुल मौतों में से 17.8 प्रतिशत हृदय रोग और 7.1 प्रतिशत पक्षाघात के कारण. Cardiovascular diseases, paralysis, heart beams, heart disease,

Bharatendu Harishchandra

अपने समय से बहुत ही आगे थे भारतेंदु, साहित्य में भी और राजनीतिक विचार में भी

विशेष आलेख गुलामी की पीड़ा : भारतेंदु हरिश्चंद्र की प्रासंगिकता मनोज कुमार झा/वीणा भाटिया “आवहु …

राष्ट्रीय संस्थाओं पर कब्जा: चिंतन प्रक्रिया पर हावी होने की साजिश

राष्ट्रीय संस्थाओं पर कब्जा : चिंतन प्रक्रिया पर हावी होने की साजिश Occupy national institutions : …

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

अच्छे नहीं, अंधेरे दिनों की आहट

मोदी सरकार के सत्ता में आते ही संघ परिवार बड़ी मुस्तैदी से अपने उन एजेंडों के साथ सामने आ रहा है, जो काफी विवादित रहे हैं, इनका सम्बन्ध इतिहास, संस्कृति, नृतत्वशास्त्र, धर्मनिरपेक्षता तथा अकादमिक जगत में खास विचारधारा से लैस लोगों की तैनाती से है।

National News

ऐसे हुई पहाड़ की एक नदी की मौत

शिप्रा नदी : पहाड़ के परम्परागत जलस्रोत ख़त्म हो रहे हैं और जंगल की कटाई के साथ अंधाधुंध निर्माण इसकी बड़ी वजह है। इस वजह से छोटी नदियों पर खतरा मंडरा रहा है।

Ganga

गंगा-एक कारपोरेट एजेंडा

जल वस्तु है, तो फिर गंगा मां कैसे हो सकती है ? गंगा रही होगी कभी स्वर्ग में ले जाने वाली धारा, साझी संस्कृति, अस्मिता और समृद्धि की प्रतीक, भारतीय पानी-पर्यावरण की नियंता, मां, वगैरह, वगैरह। ये शब्द अब पुराने पड़ चुके। गंगा, अब सिर्फ बिजली पैदा करने और पानी सेवा उद्योग का कच्चा माल है। मैला ढोने वाली मालगाड़ी है। कॉमन कमोडिटी मात्र !!

Entertainment news

Veda BF (वेडा बीएफ) पूर्ण वीडियो | Prem Kahani – Full Video

प्रेम कहानी - पूर्ण वीडियो | वेदा BF | अल्ताफ शेख, सोनम कांबले, तनवीर पटेल और दत्ता धर्मे. Prem Kahani - Full Video | Veda BF | Altaf Shaikh, Sonam Kamble, Tanveer Patel & Datta Dharme

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: