Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » संविधान को ही सबसे बड़ा झूठ बताने वाला योगी आदित्यनाथ देशद्रोही क्यों नहीं ?
Yogi Adityanath
File Photo

संविधान को ही सबसे बड़ा झूठ बताने वाला योगी आदित्यनाथ देशद्रोही क्यों नहीं ?

पुष्परंजन

संविधान को ही सबसे बड़ा झूठ बताने वाला योगी आदित्यनाथ देशद्रोही क्यों नहीं ?

भारतीय संविधान के 42वें संशोधन अधिनियम द्वारा प्रस्तावना में “धर्मनिरपेक्ष” शब्द जोड़ दिया गया है. इस प्रकार भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र घोषित किया गया है. इसका अभिप्राय यह हुआ कि संविधान सभी नागरिकों को विश्वास, धर्म तथा उपासना-पद्धति की स्वतंत्रता प्रदान करता है.

सोमवार को रायपुर में योगी आदित्यनाथ ने इसे सबसे बड़ा झूठ कहा है. उन्होंने कहा, “मेरा मानना है, आज़ादी के बाद सबसे बड़ा झूठ धर्मनिरपेक्षता “Secular” शब्द है !” यूपी के मुख्यमंत्री दैनिक जागरण समूह के एक समारोह में यह बोल-बचन प्रस्तुत कर रहे थे.

यही बात किसी कश्मीरी नेता ने कही होती, या फिर जेएनयू के किसी छात्र ने, तो वह देशद्रोही हो जाता !

पुष्परंजन की एफबी टाइमलाइन से

 

About हस्तक्षेप

Check Also

Ajit Pawar after oath as Deputy CM

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित किया

जनतंत्र के काल में महलों के षड़यंत्रों वाली दमनकारी राजशाही है फासीवाद, महाराष्ट्र ने साबित …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: