हर छोटी लड़की की आंखों में एक सपना है, एक सपना जो कभी मरेगा नहीं...

 | 
Every little girl has a dream in her eyes, a dream that will never die...

शालू निगम

हर छोटी लड़की का एक सपना है

पढ़ने का सपना, खेलने का सपना,

नाचने का सपना, उड़ने का सपना,

सभी विपत्तियों से मुक्त होने का सपना,

एक सपना जो समानता की कल्पना करता है,

एक सपना जो तानाशाही के समापन की कल्पना करता है,

एक सपना जो पितृसत्ता को चुनौती देता है,

जुल्म के खिलाफ एक सपना,

अधीनता के खिलाफ एक सपना,

संभावनाओं, जुनून और आकांक्षाओं का एक सपना,

मुक्ति का सपना, सच का सपना

यह सपना जो उसका अपना है

एक सपना जो कभी मरेगा नहीं...

तुम बना लो दीवारें, लगा दो बाड़ या सीमाएँ,

तुम बना लो जाति, वर्ग, धर्म की दीवारें या फिर लगा दो कोई भी अवरोध,

तुम कर दो बंद स्कूलों को, कॉलेजों को बदनाम कर दो,

विश्वविद्यालयों पर ताला लगा दो या पुस्तकालयों को बंद कर दो,

पर क्या रोक पाओगे कल्पना की उड़ानों को?

तुम शस्त्रागार, हथियार, बम, सेना या बल प्रयोग कर लो,

पर ये उन सपनो की खेती है जिन्हे पीढ़ी दर पीढ़ी सींचा गया है,

ये वो सपने हैं जो कभी मरेंगे नहीं...

तुम बना लो दमनकारी अत्याचारी शासनों के सभी मनमाने भेदभावपूर्ण कानून,

तुम बना लो परमात्मा की आड़ में छुपने वाले कट्टरपंथियों के सभी सदियों पुराने, प्रतिगामी मानदंड,

तुम धकेल दो किसी महिला को पर्दे या घूंघट के पीछे या बना दो दीवारें कई अड़चनों की

तुम पितृसत्ता का जाल बढ़ाने के लिए कुछ भी कर लो,

तुम डर, आतंक या धमकी का इस्तेमाल कर लो,

या जहरीले मर्दाने क्रोध या नफरत की फसल बो लो,

लेकिन तुम कल्पना की उड़ान को रोक नहीं सकते,

क्यूंकि वह लड़की एक योद्धा है जिसे पता है की उसका रास्ता क्या है,

उसके सपने हैं जो कभी मरेंगे नहीं...

तुम गर्भ में लड़कियों को मार सकते हो और जीवित रहने वालों के साथ भेदभाव कर सकते हो,

लेकिन तुम उस निडरता और बहादुरी को गोली नहीं मार सकते जो पनपती है उसके मन में,

तुम ऑनर किलिंग कर सकते हो या बाल विवाह के लिए बाध्य कर सकते हो,

पर तुम इन सपनों को कैद नहीं कर सकते,

तुम्हारी कट्टरता कई मलालाओं को गोली मार सकती है,

तुम्हारा स्त्री द्वेष कई असीफ़ाओं पर जुल्म कर सकता है,

तुम्हारा लिंगवाद कई आशाओं का बलात्कार कर सकता है

लेकिन तुम उनकी अद्भुत दूरदर्शी दृष्टि को नहीं मार सकते,

तुम उस सोच को नहीं मार सकते जिसने कल्पना करने का साहस किया हो

बल्कि तुम्हारी दुश्मनी  और नफरत आग में घी डालेगी,

जितना तुम दबाओगे, ये सपने और मजबूत होते जाएंगे

जो कर सके वो करो लेकिन ये सपने हैं जो कभी मरेंगे नहीं...

इस दुनिया में हर छोटी लड़की का एक सपना है

एक सपना जो लाखों संभावनाओं और जुनून की उम्मीद है

एक सपना जो उसके चारों ओर एक हिंसा मुक्त अद्भुत दुनिया की कल्पना है

एक सपना जो रचनात्मकता और करुणा के माध्यम से बदलाव लाता है

ऐसे साहसी सपने देखने वाली छोटी लड़की विरोध करना  भी जानती है

वह जानती है कि उसका सपना टूटेगा नहीं,

तुम क्या करते हो, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता

नन्ही सी बच्ची योद्धा है, वह विचलित नहीं होगी

उसका सपना देर सवेर सच तो होगा,

एक बात तो तय है कि जो सपना उसने देखा है वह कभी मरेगा नहीं….

लेखिका एक कार्यकर्ता, शोधकर्ता और एक वकील हैं जो पिछले कई वर्षों से महिलाओं अधिकारों, मानवाधिकारों, कानून और शासन के मुद्दों पर काम कर रही हैं।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription