विश्व नदी दिवस : गहलोत की अपील हम सभी हमारी नदियों को साफ़ और स्वच्छ रखने का प्रण लें

River

क्यों मनाया जाता है विश्व नदी दिवस | Why World Rivers Day is celebrated. विश्व नदी दिवस पर अशोक गहलोत का संदेश | Ashok Gehlot’s message on World River Day

किसी की आपदा, किसी का अवसर! मेहनत-मजदूरी करने वालों की आपदा को कार्पोरेटों के लिए अवसर बनाने की धोखाधड़ी नहीं चलेगी

महामारी के बीचो-बीच और वास्तव में देशव्यापी लॉकडाउन के बीच (Amidst nationwide lockdown), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब ‘आपदा को अवसर’ बनाने का आह्वान किया था, उस समय तो उनके कटु आलोचकों ने भी नहीं सोचा होगा कि वह सचमुच, कोविड-19 महामारी की आपदा को, कार्पोरेटों की सेवा के अपने असली एजेंडा को पहले से

हिन्दू समाज के ठेकेदारों ने ईश्वर चन्द्र विदयासागर को बार-बार जान से मारने की कोशिश की

Ishwar Chandra Vidyasagar,ईश्वर चंद्र विद्यासागर,ईश्वर चन्द्र विदयासागर,

अंतिम दिनों में समाज से बहिष्कृत विद्यासागर झारखंड के एक सन्थाल आदिवासी गांव में अकेले मरे। लेकिन वे अपने विचार और सिद्धांत से पीछे नहीं हटे।

पत्रकार कमल शुक्ला पर थाने में हमला, बादल सरोज ने भूपेश बघेल से पूछा राज किसका है? माफिया का या आपका?

Kamal Shukla, Bhupesh Baghel Badal Saroj

पत्रकार कमल शुक्ला पर थाने में हमला : बादल सरोज ने मुख्यमंत्री पूछा 2018 के चुनाव में उन्होंने पत्रकार संरक्षण क़ानून लाने का जो वादा किया था, उसका क्या हुआ?

भारत बंद – छत्तीसगढ़ बंद’ के आह्वान को सफल करने पर माकपा ने जताया किसानों और आम जनता का आभार

CPIM

माकपा ने कहा है कि इन किसान विरोधी कानूनों और श्रम कानूनों में मजदूर विरोधी संशोधनों के खिलाफ देश की आम जनता को संगठित कर सड़क की लड़ाई लड़ी जाएगी और सरकार को देश को तबाह करने वाले इन कानूनों को निरस्त करने के लिए बाध्य किया जाएगा।

डिजिटल मीडिया से घबराई सरकार अब कसना चाहती है नकेल !

Social Media

सरकार सुदर्शन चैनल पर कुछ नहीं कह रही है। इसके विपरीत इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को बचाने की कोशिश कर रही है, और चिंताजनक बात यह है कि इसकी आड़ में डिजिटल मीडिया को निशाने पर ले रही है।

राजनीति व मीडिया जैसे विषय पर पुस्तक लिखने वाली महिलाओं की संख्या नगण्य

rajniti aur media pustak lokarpan leena 24-9-20

बिहार में कभी भी पत्रकारिता का सुनहरा वक्त नहीं रहा। 1970 के दशक में ग्रास रूट की चर्चा पत्रकारिता में नहीं दिखती थी। खबरों के साथ भेदभाव किया जाता था।

भैंस की उन्नत प्रजातियों के विकास में मददगार हो सकता है नया आनुवंशिक अध्ययन

Buffalo

भारतीय शोधकर्ताओं के एक ताजा अध्ययन में भैंस की विभिन्न प्रजातियों में आनुवंशिक सुधारों के प्रभाव की तुलना दुनिया की अन्य मवेशी प्रजातियों के साथ की गई है।

कृषि विरोधी कानूनों के खिलाफ छत्तीसगढ़ में हुए कई स्थानों पर हुए प्रदर्शन, मोदी सरकार का हुआ पुतला दहन

Demonstrations held in many places in Chhattisgarh against anti-agricultural laws

जिस अलोकतांत्रिक तरीके से संसदीय जनतंत्र को कुचलते हुए इन कानूनों को पारित किया गया है, उससे स्पष्ट है कि यह सरकार आम जनता की नहीं, अपने कॉर्पोरेट मालिकों की चाकरी कर रही है।

खेती को तबाह कर देगा कृषि विधेयक – मजदूर किसान मंच

Agriculture Bill will destroy agriculture - Mazdoor Kisan Manch

मजदूर किसान मंच ने उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में दर्ज कराया प्रतिवाद. गांव-गांव आरएसएस- भाजपा का किसान करेंगे विरोध – दारापुरी