मानवाधिकार संगठन NCHRO की शिकायत पर पुलिस ने की कार्यवाही, दरोगा और कांस्टेबल निलंबित

मानवाधिकार संगठन NCHRO की शिकायत पर पुलिस ने की कार्यवाही, दरोगा और कांस्टेबल निलंबित

Police act on the complaint of human rights organization NCHRO. Sub- Inspector and constable suspended

संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष ज़ाकिर अली त्यागी की सक्रियता से पुलिस को उठाना पड़ा कदम

मुज़फ्फरनगर 8 फ़रवरी ! जनपद के हरसोली पुलिस चौकी का दरोगा सन्दीप कुमार और कांस्टेबल प्रशांत शर्मा ने कुछ समय पहले एक अल्पसंख्यक समुदाय के युवक मोबीन (जो कि बेहद ही गरीब परिवार से है और चाऊमीन बेचता है) को गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लेकर उसे नंगा करके उसके साथ बेहरहमी से मारपीट की। जिससे उसके गंभीर चोटें आईं।

यह जानकारी देते हुए मानवाधिकार संगठन NCHRO की प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट रीता भुइयार ने बताया कि पुलिस के इन दोनों कर्मचारियों ने मोबीन को माँ बहन की गंदी गन्दी गालियां भी दी। इन दोनों ने बगैर किसी जुर्म के मोबीन को हिरासत में ले लिया और गैरकानूनी तरीके से एक कमरे में बंद करके उसके साथ मारपीट की जिसका वीडियो संगठन के उपाध्यक्ष जाकिर अली त्यागी के पास पहुंचा। इसके बाद संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष जाकिर अली त्यागी ने इस मामले में जल्द कार्यवाही करते हुए मुजफ्फरनगर पुलिस, उत्तर प्रदेश पुलिस, और एसपी मुजफ्फरनगर को टैग करते हुए ट्विटर व फेसबुक पर इस मानव अधिकार हनन की घटना की जानकारी साझा की। जैसे ही यह वीडियो और ट्विटर का संदेश पुलिस विभाग को मिला पुलिस विभाग ने फौरन कार्यवाही करते हुए दोनो आरोपी पुलिस वालो को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया और मामले की जांच के आदेश दे दिए।

इस संबंध में पुलिस द्वारा की गई समस्त कार्यवाही की जानकारी पुलिस विभाग ने संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष जाकिर अली त्यागी के साथ भी साझा की। संगठन के शीघ्र शिकायत करने से पुलिस को कार्यवाही करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

संगठन इस संबंध में मानव अधिकार आयोग और अन्य संबंधित विभागों को भी जल्द शिकायत लिखने के सम्बन्ध में विचार कर रहा है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner