ताली-थाली बजवा चुके प्रधानमंत्री मोदी बोले, ‘मुझे विवादों में घसीटने की हो रही खुराफात’

Prime Minister Modi, who has clapped the plate, said, ‘I am being dragged into controversies’

नई दिल्ली, 8 अप्रैल 2020. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उन्हें विवादों में घसीटने की खुराफात चल रही है।

यह जानकारी श्री मोदी ने स्वयं ट्वीट कर लोगों को दी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा,

“मेरे ध्यान में लाया गया है कि कुछ लोग यह मुहिम चला रहे हैं कि 5 मिनट खड़े रहकर मोदी को सम्मानित किया जाए। पहली नजर में तो यह मोदी को विवादों में घसीटने की कोई खुराफात लगती है।”

दूसरे ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा,

“हो सकता है कि यह किसी की सदिच्छा हो, तो भी मेरा आग्रह है कि यदि सचमुच में आपके मन में इतना प्यार है और मोदी को सम्मानित ही करना है तो एक गरीब परिवार की जिम्मेदारी कम से कम तब तक उठाइए, जब तक कोरोना वायरस का संकट है। मेरे लिए इससे बड़ा सम्मान कोई हो ही नहीं सकता।”

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में 25 मार्च से 21 दिनों का लॉकडाउन है। कोरोना की चुनौती खत्म न होने के कारण अभी कई राज्य सरकारों ने इस लॉकडाउन को बढ़ाने का भी प्रस्ताव दिया है। इस दौरान कई तरह की अफवाहें भी फैल रहीं हैं। सरकार के स्तर से समय-समय पर अफवाहों का खंडन किया जाता है। यह पहली बार है कि जब प्रधानमंत्री मोदी खुद लोगों को एक मुहिम को लेकर सावधान कर रहे हैं, जिसमें उन्हें सम्मानित करने की बात कही जा रही है, हालांकि इससे पहले ऐसे अवसरों पर श्री मोदी खामोश हाँ रहे हैं।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations