Home » समाचार » देश » जुर्म और नाइंसाफी के खिलाफ आवाज उठाना मेरा कर्तव्य – प्रियंका गांधी
Priyanka Gandhi at Bilariyaganj

जुर्म और नाइंसाफी के खिलाफ आवाज उठाना मेरा कर्तव्य – प्रियंका गांधी

’संविधान बचाने की लड़ाई है, कांग्रेस पार्टी आज भी आपके साथ खड़ी है, कल भी रहेगी’ – प्रियंका गांधी’

भाजपा गरीब-वंचित विरोधी कानूनों की पैरोकार

भाजपा सरकार सामाजिक न्याय विरोधी है, दलित-पिछड़ा विरोधी है- प्रियंका गांधी

आजमगढ़/लखनऊ, 12 फरवरी 2020। अखिल भारतीय कांग्रेस की महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने बुधवार को आजमगढ़ पहुंचकर नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) और एनआरसी के खिलाफ बिलरियागंज में चल रहे आंदोलन में पुलिस हिंसा और उत्पीड़न की शिकार हुईं पीड़ित महिलाओं से मुलाकात की।

पीड़ित महिलाओं ने महासचिव प्रियंका गांधी से बताया कि सीएए और एनआरसी के खिलाफ चार फरवरी को 10 बजे से शांतिपूर्ण तरीके से बिलरियागंज में मौलाना अली जौहर पार्क में धरना शुरू किया गया था। अगले दिन सुबह में करीब 4 बजे आजमगढ़ के जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान पूरी फोर्स के साथ आए। अधिकारी महिलाओं को समझाने के लिए मौलाना ताहिर मदनी साहब को बुलाकर लाए। एक पुलिस अधिकारी ने खुलेआम धमकी दी और कहा कि हम बवाल करना चाहते हैं।

Priyanka Gandhi Vadra

  पीड़ित महिलाओं ने आगे बताया कि वे लगातार प्रशासन से कह रही थीं कि फज्र की नमाज अदा करके चली जाएंगी, लेकिन पुलिस अधिकारियों ने लाठीचार्ज कर दिया। आंसू गैस के गोले और रबर की गोलियां महिलाओं के ऊपर चलायी गईं। सिर्फ इतना ही नहीं पुलिस ने महिलाओं के ऊपर पथराव भी किया जिसमें करीब तीन दर्जन महिलाएं घायल हुईं और कई बच्चे जख्मी हुए। पुलिस पथराव में सरवरी बानों इतनी गंभीर रूप से घायल हुईं कि सात दिन से वे आईसीयू में हैं।

पीड़ित महिलाओं ने महासचिव प्रियंका गांधी अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि पुलिस ने जहां धरना चल रहा था वहां टैंकर से पानी लाकर पूरा पार्क भर दिया। तब से रोजाना पुलिस टैंकर से पानी लाती है और पार्क को भर देती है। पुलिस घरों में घुसकर गद्दा और रजाई तक उठा ले गई। पुरुष पुलिस कर्मियों ने महिलाओं को पीटा है।

महासचिव से बातचीत में महिलाओं ने कहा कि कई बच्चे हैं जो नाबालिक हैं, पुलिस उनको उठाकर ले गयी है। उनके ऊपर संगीन धाराओं में मुकदमें दर्ज किए गए हैं। महासचिव से बातचीत में पीड़ित महिलाओं ने कहा कि कई बच्चे हैं जिनकी परीक्षाएं हैं, उनको भी जेल में उठाकर पुलिस ने डाल दिया है।

प्रियंका गांधी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आपके बीच में आकर मेरे दिल को तसल्ली मिली कि मैं आप सबके दुःख और संघर्ष का हिस्सा बनी।

उन्होंने कहा कि इसके पहले वे बिजनौर, मुजफ्फरनगर, लखनऊ, बनारस गयी थीं। वहां लोगों से मिली। उत्तर प्रदेश में जहाँ भी दमन होगा, अत्याचार होगा, नाइंसाफी होगी वहां वे जाएंगी और सबके दुःख. दर्द का हिस्सा बनेंगी। यह मेरा फर्ज है, मुझे कोई भी रोक नहीं सकता है।

महासचिव प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि मुझे पता चला कि आजमगढ़ (बिलरियागंज) में पुलिसिया हिंसा हुई, महिलाओं को लाठियों से पीटा गया, आधी रात को आंसू गैस के गोले सत्ता के इशारे पर महिलाओं के ऊपर चलाए गए, घरों में तोड़-फोड़ हुई, गलत तरीके से निर्दोष लोगों गिरफ्तारियों हुईं।

उन्होंने कहा मुझे पता चला और मैं बिलरियागंज आप सबके बीच में आई। उन्होंने कहा कि मुझे पता चला कि इस जिले के सम्मानित मौलाना मदनी साहब को यहाँ के अधिकारी घर से बुलाकर गिरफ्तार किये। मौलाना साहब दिल के मरीज हैं, सुबह-शाम दवा लेते हैं। वे शांति की बात कर रहे थे, पर प्रशासन ने गलत तरीके से गिरफ्तार कर लिया।

Priyanka Gandhi at Bijnore

  उन्होंने कहा कि यहां कई छात्र जो दूसरे प्रदेशों में पढ़ाई कर रहे हैं, उनकी बाकायदा पहचान करके उनको गिरफ्तार किया गया। तीन नाबालिग बच्चों को पुलिस उठा ले गयी, जेल में डाल दिया।

महासचिव ने कहा कि सीएए/एनआरसी के खिलाफ चल रहे आंदोलनों में हुई पुलिसिया हिंसा को लेकर मानवाधिकार आयोग में शिकायत की है। पुलिस महानिदेशक और मुख्य सचिव तलब किये गये हैं। प्रदेश में जहाँ भी उत्पीडन-दमन होगा मैं आवाज बुलंद करुँगी।

उन्होंने कहा कि आजमगढ़ बिलरियागंज के पुलिसिया उत्पीड़न की रिपोर्ट भी मानवाधिकार आयोग को वे भेजेंगी।

उन्होंने कहा कि यह देश बचाने की लड़ाई है, अपनी गौरवशाली विरासत को बचाने की लड़ाई है। संविधान बचाने की लड़ाई है। इस लड़ाई में हम भी इंच भर पीछे नहीं हटेंगे और देश बचाने की इस लड़ाई का हिस्सा हूँ इसका मुझे फक्र है।

उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा भाजपा गरीब और वंचित विरोधी कानून की पैरोकार है। सुप्रीम कोर्ट में आरक्षण विरोधी काननू के लिए वकील खड़ा किया। उन्होंने कहा कि आरक्षण संविधान के मौलिक अधिकारों में है। संविधान विरोधी इस कानून के खिलाफ भी कांग्रेस संघर्ष करेगी। भाजपा सरकार सामाजिक न्याय विरोधी है, दलित-पिछड़ा विरोधी है।

महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी के निर्देश पर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधायक दल नेता आराधना मिश्रा ने पुलिसिया हिंसा की शिकार सरवरी बानो से बिलरिया की चुंगी अस्पताल जाकर मुलाकात किया। गौरतलब है कि वह सात दिन से आईसीयू में हैं। इस दौरान सड़क पर लगभग बीस हजार लोगों की भीड़ देखी गई और दो सौ वाहनों का काफिला भी साथ था। अपार जनसमर्थन देखकर प्रदेश कांग्रेस के लोग गद्गद थे।

Priyanka Gandhi at Muzaffarnagar  कांग्रेस महासिचव के इस दौरे को लेकर जब उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह देश और संविधान बचाने की लड़ाई है और कांग्रेस पार्टी संविधान के धर्म निरपेक्ष मूल्यों को बचाने और हिन्दुत्व के आतंक के खिलाफ प्रदेश में सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष कर रही है और लगातार करती रहेगी।

उन्होंने कहा कि आज प्रियंका जी को मिले इस अपार जनसमर्थन ने यह बता दिया है कि अखिलेश यादव की ठगने की दुकान उत्तर प्रदेश में बंद होने वाली है और अब उनके झांसे में प्रदेश का मुसलमान आने वाला नहीं है। यह लड़ाई हम जरूर जीतेंगे और प्रदेश का गरीब, वंचित अलपसंख्यक मुसलमान इस लड़ाई में हमारे साथ खड़ा है। आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ समाजवादी पार्टी को उसकी सही जगह मिल जाएगी।

शाहनवाज आलम ने आगे कहा कि बुरका पहने महिलाओं ने जिस तरह हजारों की तादाद में घरों से निकलकर प्रियंका गांधी जिंदाबाद के नारे लगाए उससे स्पष्ट हो गया है कि समाजवादी पार्टी का किला समझे जाने वाले आजमगढ़ में उसका किला दरकने लगा है।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.  

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Kisan

आत्मनिर्भर भारत में पांच मांगें, 26 संगठन, 10 जून को करेंगे छत्तीसगढ़ में राज्यव्यापी आंदोलन

होगा राज्य और केंद्र सरकार की कृषि और किसान विरोधी नीतियों का विरोध रायपुर, 06 …

Leave a Reply