जहाँ अन्याय होगा वहां हम खड़े होंगे, हिंसा पीड़ित परिजनों से मिलीं प्रियंका गांधी

Priyanka Gandhi met family members of violence

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शनिवार सुबह मुजफ्फरनगर पहुंचीं

मुज़फ़्फ़रनगर, 04 जनवरी 2019. सीएए, एनआरसी व एनपीआर (CAA, NRC और NPR) के विरोध में देशभर में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान उत्तर प्रदेश में पुलिस केद्वारा की गई कार्रवाई से पीड़ित परिवारों से मिलने का सिलसिला प्रियंका गांधी ने जारी रखते हुए आज मुज़फ़्फ़रनगर में पीड़ितों का दर्द सुना।

प्रियंका गांधी सीधे मौलाना असद के घर पहुंचीं जहां उन्होंने पीड़ित लोगों से बात की। प्रियंका गांधी के साथ प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष पूर्व विधायक एवं पश्चिम उप्र के प्रभारी पंकज मलिक व इमरान भी थे।

प्रियंका गांधी ने मुजफ्फरनगर में कई परिवारों से मुलाकात की। प्रियंका गांधी ने कहा कि मौलाना असद ने मुझे बताया कि पुलिस ने मदरसे के अंदर घुसकर छात्रों को बेरहमी से पीटा और फिर बच्चों को जेल में डाल दिया।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि पीड़ितों में किसी का हाथ टूटा हुआ है और किसी के टांगों में पट्टी हुई है। प्रियंका गांधी के अनुसार पीड़ित लोगों का कहना है कि पुलिस ने घरों में घुसकर लोगों के साथ मारपीट की और तोड़फोड़ की है।

श्रीमती गांधी प्रदर्शन में शहीद हुए नूर मोहम्मद के यहां भी पहुंचीं। यहां पीड़ितों का हाल देख प्रियंका गांधी ने कहा कि यह बहुत ही दर्दनाक है। उन्होंने कहा कि पीड़िता सात माह की गर्भवती हैं और उसके छोटी सी एक बच्ची है। प्रियंका गांधी ने कहा हम कोशिश करेंगे कि जहां-जहां अन्याय हुआ हम वहां जाएंगे और पीड़ित लोगों की मदद करेंगे।

उनका कहना है कि पुलिस का काम जनता की सुरक्षा करना है लेकिन यहां तो उल्टा हुआ है।

इस दौरान प्रियंका गांधी ने रुकैया परवीन से भी मुलाकात की, जिनकी आज शादी हो रही है। प्रियंका गांधी ने कहा कि पुलिस ने परवीन के घर में तोड़फोड़ की और उसके घर में रखा दहेज का सामान भी तोड़ दिया गया।

वहीं पूरे उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा के सवाल पर प्रियंका गांधी ने कहा कि मैंने राज्यपाल को एक बहुत लंबी चिट्ठी भेजी है। उसमें पूरी डिटेल है। पुलिस ने लोगों को किस तरह से पीटा है। प्रियंका गांधी ने कहा कि पुलिस ने बच्चों को भी जेल में डाला है जो कि बहुत गलत है।

इसके अलावा पाकिस्तान में गुरुद्वारा पर हुए पथराव के सवाल पर प्रियंका गांधी ने कहा कि जहां-जहां गलत होता है, वह गलत है। गलत काम किसी को नहीं करना चाहिए।

बता दें कि प्रियंका गांधी का काफिला नहर की पटरी से होते हुए मुजफ्फरनगर पहुंचा।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations