Home » Latest » लोक आस्था के पर्व मौनी अमावस्या पर प्रियंका गांधी पहुंचीं प्रयागराज, पवित्र संगम में लगाई डुबकी
मौनी अमावस्या पर प्रियंका ने संगम में किया स्नान

लोक आस्था के पर्व मौनी अमावस्या पर प्रियंका गांधी पहुंचीं प्रयागराज, पवित्र संगम में लगाई डुबकी

Priyanka Gandhi reached Prayagraj on Mauni Amavasya, the festival of public faith took a dip in the holy Sangam

स्वराज भवन में स्थित अनाथालय में बच्चियों के संग बिताया कुछ समय

अरैल घाट से पहुंची संगम, स्नान के बाद पूजा महासचिव ने की पूजा अर्चना

संगम से लौटकर महासचिव ने जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती का दर्शन कर लिया आशीर्वाद

 प्रयागराज/लखनऊ 11 फरवरी 2021। कांग्रेस महासचिव एवं प्रभारी यूपी श्रीमती प्रियंका गांधी मौनी अमावस्या के पावन पर्व पर प्रयागराज पहुंचीं। प्रयागराज हवाईअड्डे पर कांग्रेसजनों ने श्रीमती गांधी का भव्य स्वागत किया और फूल-माला देकर उनका सम्मान किया। प्रयागराज हवाईअड्डे से श्रीमती प्रियंका गांधी सीधे आनन्द भवन पहुंची।

उन्होंने आनन्द भवन पहुंचकर  पंडित जवाहर लाल नेहरू जी को याद करते हुए उस स्थान पर पुष्पांजलि अर्पित की जहाँ पर पंडित नेहरू का अस्थि कलश विसर्जन के पूर्व रखा गया था।

इसके बाद कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी जी अरैल घाट होते हुए संगम के पवित्र घाट पर पहुंचीं। नौका से  संगम तट का भ्रमण किया और तमाम श्रद्धालुओं से मुलाकात की। पवित्र मौनी अमावस्या के पावन पर्व पर संगम में डुबकी लगाकर स्नान किया और पूजा अर्चना की।

महासचिव प्रियंका गांधी मौनी अमावस्या के स्नान के बाद जगतगुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती महाराज का मनकामेश्वर मंदिर पर दर्शन कर आशीर्वाद लिया।

महासचिव ने अपने ट्विटर पर लिखा है कि जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी से मेरी बचपन की स्मृतियाँ जुड़ी हुई हैं। उन्होंने मेरे पिता के रहते हुए 1990 में हमारी गृह प्रवेश की पूजा करायी थी। आज उनके सानिध्य में देश और धर्म की उदारता और सद्भाव की चर्चा की।

महासचिव प्रियंका गांधी शाम को प्रयागराज एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गईं।
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

lallu handed over 10 lakh rupees to the people of nishad community who were victims of police harassment

पुलिसिया उत्पीड़न के शिकार निषाद समाज के लोगों को लल्लू ने 10 लाख रुपये की सौंपी मदद

कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी का संदेश और आर्थिक मदद लेकर उप्र कांग्रेस कमेटी के …

Leave a Reply