मिश्रा, ठाकुर, वर्मा पर एफआईआर का आदेश देने वाले हाईकोर्ट के जज को मध्य रात्रि ट्रांसफर करने पर प्रियंका ने केंद्र पर निशाना साधा

Priyanka Gandhi Vadra

Priyanka Gandhi targets Modi government for midnight transfer to High Court judge, who ordered FIR on Mishra, Thakur, Verma

नई दिल्ली, 27 फरवरी 2020. दिल्ली हाईकोर्ट के न्यायाधीश मुरलीधर (Judge Muralidhar of Delhi High Court) द्वारा केंद्र को फटकार लगाने के दिन ही मध्य रात्रि में उनका ट्रांसफर किए जाने को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने दुखद बताया।

इस बीच प्रियंका के भाई तथा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्यायमूर्ति लोया के याद करते हुए केंद्र सरकार पर कटाक्ष किया, जिनकी मौत पर राजनीतिक विवाद हुआ था। प्रियंका ने ट्वीट किया,

“वर्तमान स्थिति को देखते हुए न्यायमूर्ति मुरलीधर का आधी रात को ट्रांसफर चौंकाने वाली घटना नहीं है, लेकिन यह दुखद और शर्मनाक है।”

स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए उन्होंने आरोप लगाया,

“लाखों भारतीय नागरिकों को ईमानदार न्यायपालिका पर विश्वास है, लेकिन न्याय को विफल करने और उनके विश्वास को तोड़ने का सरकार का प्रयास दुस्साहस भरा है।”

इसी दौरान उनका साथ देते हुए राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर दिया,

“बहादुर जज लोया की याद आई, जिनका ट्रांसफर नहीं हुआ था।”

न्यायाधीश बी.एच. लोया सोहराबुद्दीन मामले की सुनवाई कर रहे थे, जब दिसंबर 2014 में उनकी नागपुर में संदिग्ध मौत हो गई थी।

कानून एवं न्याय मंत्रालय ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति एस. मुरलीधर का स्थानांतरण (ट्रांसफर) पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट कर दिया था।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें