Home » Latest » प्रियंका की योगी को नेक सलाह, ‘संकट की घड़ी में लोगों को अकेला न छोड़ें’
Yogi Adityanath Priyanka Gandhi

प्रियंका की योगी को नेक सलाह, ‘संकट की घड़ी में लोगों को अकेला न छोड़ें’

प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ को लिखा दो पेज का पत्र

पत्र में कांग्रेस महासचिव ने दीं कई सलाह

नई दिल्ली, 20 मई 2021. कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary, Mrs. Priyanka Gandhi Vadra) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर और उनसे संकट की घड़ी में आम लोगों को अकेला नहीं छोड़ने का आग्रह किया है।

अपने दो पेज के पत्र में, प्रियंका गांधी ने महामारी में लोगों के सामने आने वाले मुद्दों पर प्रकाश डाला और मुख्यमंत्री को जनहित में कदम उठाने की सलाह दी।

प्रियंका गांधी का ट्वीट

श्रीमती गांधी ने पत्र की प्रतिलिपि पोस्ट करते हुए ट्वीट किया,

“बढ़ती महंगाई, निजी अस्पतालों द्वारा लूट, बिजली बिल, स्कूल फीस एवं व्यापार बंदी से हुए नुकसान से मध्य वर्ग जूझ रहा है।

कई लोगों को कर्ज लेने, FD तुड़वाने, भविष्य निधि का पैसा निकालने जैसे कदम उठाने पड़े हैं।

मैंने योगी जी को पत्र लिखकर मध्य वर्ग को राहत देने का आग्रह किया है।”

प्रियंका गांधी की मांग सरकार मुआवजा दे

उन्होंने कहा, “मध्यम वर्ग महामारी के प्रकोप का सामना कर रहा है। सरकार को निजी अस्पतालों में दरें तय करने के लिए कदम उठाना चाहिए, क्योंकि लोग इलाज के लिए कर्ज ले रहे हैं। सरकार को मुआवजा देना चाहिए।”

बिजली की दरों में वृद्धि न करने की सलाह

“सरकार को महंगाई पर लगाम लगाने के लिए कदम उठाने चाहिए और बिजली की दरों में वृद्धि नहीं करनी चाहिए और दुकानदारों और व्यापारियों को राहत दी जानी चाहिए।”

पत्र में, उन्होंने स्कूल फीस के मुद्दे पर प्रकाश डाला और कहा कि सरकार को माता-पिता, शिक्षकों और स्कूलों को राहत देनी चाहिए।

प्रियंका गांधी ने बुधवार को कहा था,

“उत्तर प्रदेश शिक्षक संघ द्वारा जारी पंचायत चुनाव के दौरान ड्यूटी के दौरान मरने वाले 1,621 शिक्षकों की सूची को नकारते हुए यूपी की एक असंवेदनशील सरकार कह रही है कि मरने वाले शिक्षकों की संख्या महज तीन थी। शिक्षकों को जीवित रहते हुए उचित सुरक्षा उपकरण और उपचार नहीं मिला और अब सरकार मृत्यु के बाद उनका सम्मान भी छीन रही है।”

इससे पहले भी, प्रियंका गांधी ने महामारी के बीच उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव कराने के लिए भाजपा पर निशाना साधा था।

उन्होंने कहा था कि राज्य में जो हो रहा है वह मानवता के खिलाफ अपराध से कम नहीं है।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

news

एमएसपी कानून बनवाकर ही स्थगित हो आंदोलन

Movement should be postponed only after making MSP law मजदूर किसान मंच ने संयुक्त किसान …

Leave a Reply