Home » समाचार » देश » असम को “भाजपामुक्त” करने का प्लान, कांग्रेस ने सोनोवाल से कहा 30 विधायक लाओ सीएए विरोधी सरकार बनाओ
NRC par ghiri BJP BJP in crisis over NRC

असम को “भाजपामुक्त” करने का प्लान, कांग्रेस ने सोनोवाल से कहा 30 विधायक लाओ सीएए विरोधी सरकार बनाओ

Quit BJP and form an alternative anti-CAA government, Congress tells Assam Chief Minister Sarbananda Sonowal

नई दिल्ली, 14 जनवरी 2020. असम में एक नए घटनाक्रम से सत्तारूढ़ भाजपा की परेशानी बढ़ सकती है। नागरिकता संशोधन कानून पर भारी विरोध का सामना कर रहे असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को कांग्रेस ने ऑफर दिया है कि वह तीस विधायकों के साथ भाजपा छोड़कर राज्य में सीएए विरोधी सरकार का गठन करें।

दरअसल सीएए के विरोधी असम के स्वदेशी समुदायों के अधिकारों और आकांक्षाओं पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और सोनोवाल स्वदेशी आंदोलन से ही निकलकर आए हैं।

असम में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को छोड़कर “नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (सीएए)” विरोधी एक वैकल्पिक सरकार बनाने में मदद करने की पेशकश की है।

द हिंदू की एक खबर के मुताबिक इत्र व्यवसायी मौलाना बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व वाले ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) ने इस तरह की वैकल्पिक सरकार का हिस्सा बनने में दिलचस्पी दिखाई है।

खबर के मुताबिक सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चला रहे ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (All Assam Students’ Union) और अन्य संगठनों के नेताओं ने लगभग एक पखवाड़े पहले भाजपा, अपने सहयोगी असम गण परिषद (एजीपी), और कांग्रेस को “राजनीतिक विकल्प” बनाने का विचार बनाया था। यह विचार एक ऐसी पार्टी के लिए था, जो असम के स्वदेशी समुदायों के अधिकारों और आकांक्षाओं पर केंद्रित थी।

कांग्रेस ने तुरंत ऐसी वैकल्पिक सरकार बनाने के प्रस्ताव पर सहमति व्यक्त की। लेकिन शनिवार को असम विधानसभा में विपक्ष के नेता देवव्रत सैकिया (Opposition leader in the Assam Assembly, Debabrata Saikia) ने मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को खुला निमंत्रण दिया कि वह 30 विधायकों के साथ भाजपा छोड़ें और राज्य में सीएए विरोधी वैकल्पिक सरकार का गठन करें।

श्री सैकिया ने कहा।

“मुख्यमंत्री अपने भाजपा के आकाओं का पालन करते हुए अपने विवेक के खिलाफ लड़ रहे हैं। उन्हें सीएए के खिलाफ असम में लोगों के गुस्से को देखते हुए 30 विधायकों के साथ पार्टी छोड़नी चाहिए। हम भाजपा विरोधी सरकार बनाने में उनका समर्थन करेंगे ताकि वह मुख्यमंत्री के रूप में अपना कार्यकाल जारी रख सकें।“

126 सदस्यीय असम विधानसभा में भाजपा के 61 विधायक हैं। इसके क्षेत्रीय सहयोगी एजीपी (14 विधायक) और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (12 विधायक) हैं। कांग्रेस के पास 25 और AIUDF के 13 विधायक हैं। सदन में एक निर्दलीय विधायक भी हैं।”

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, amalendu.upadhyay(at)gmail.com पर मेल करें करें। भारत से बाहर के साथी पे पल के माध्यम से https://www.paypal.me/AmalenduUpadhyaya पर डोनेट कर सकते हैं।  

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Sonia Gandhi at Bharat Bachao Rally

कांग्रेस के स्पीक अप इंडिया कार्यक्रम के तहत सोनिया गांधी के संदेश का मूल पाठ

 Text of Sonia Gandhi’s message under Congress’s Speak Up India program कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया …

Leave a Reply