Home » समाचार » देश » Corona virus In India » राहुल गांधी का केंद्र की कोरोना रणनीति पर तंज – तुगलकी लॉकडाउन लगाओ, घंटी बजाओ
Rahul Gandhi

राहुल गांधी का केंद्र की कोरोना रणनीति पर तंज – तुगलकी लॉकडाउन लगाओ, घंटी बजाओ

Rahul Gandhi took a dig at the Center’s corona strategy, said – Tughlaqi lockdown, ring the bell

नई दिल्ली, 16 अप्रैल 2021.  देश में कोरोना विकराल रुप लेता जा रहा है वो चिंता का विषय बन गया है। सरकार एकदम नाकारा साबित हुई है। देश में आज लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस के 2 लाख से अधिक नए केस सामने आए जिसके साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। जिस रफ्तार से कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, ऐसे में एक बार फिर से लॉकडाउन की आहट सुनाई देने लगी है। जगह-जगह वीकेंड लॉकडाउन और कर्फ्यू लग चुका है।

इस बीच केंद्र सरकार की कोरोना को लेकर रणनीति पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल से सांसद राहुल गांधी ने तंज कसा है और तीन स्टेप में बता दिया है कि कोरोना के खिलाफ जंग में सरकार की क्या रणनीति है।

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार की कोरोना रणनीति पर तंज कसते हुए आज ट्विट कर सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने लिखा केंद्र सरकार की तीन रणनीति हैं। पहला- तुगलकी लॉकडाउन लगाओ। दूसरा- घंटी बजाओ और तीसरा- प्रभु के गुण गाओ।

आपको बता दें कि राहुल गांधी कोरोना से निपटने में केंद्र सरकार की नीतियों के प्रति काफी हमलावर रहे हैं। अभी कल ही यानि गुरुवार को उन्होंने देश की कोरोना से खस्ता हालत पर पीएम मोदी पर निशाना साधा था। 

उन्होंने लिखा था ना टेस्ट हैं, ना हॉस्पिटल में बेड, ना वेंटिलेटर हैं, ना ऑक्सीजन, वैक्सीन भी नहीं है, बस एक उत्सव का ढोंग है। PMCares?

आपको बता दें कि देश में अब तक के कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15 लाख हो गई है। देश में लगातार वैक्सीनेशन का काम भी हो रहा है लोकिन अब ये बेअसर साबित होता नजर आ रहा है।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

gairsain

उत्तराखंड की राजधानी का प्रश्न : जन भावनाओं से खेलता राजनैतिक तंत्र

Question of the capital of Uttarakhand: Political system playing with public sentiments उत्तराखंड आंदोलन की …

Leave a Reply