राहुल गांधी का वार, असम को नागपुर, दिल्ली से नहीं चलने देंगे

राहुल गांधी का वार, असम को नागपुर, दिल्ली से नहीं चलने देंगे

Rahul Gandhi’s attack : will not allow Assam to run from Nagpur, Delhi

असम विधानसभा चुनाव 2021

गुवाहाटी, 1 अप्रैल 2021. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने आरएसएस और भाजपा पर अपने हमले को जारी रखते हुए बुधवार को दोहराया कि असम को नागपुर और दिल्ली से नियंत्रित नहीं किया जाएगा, क्योंकि केवल असम के लोग राज्य चलाने के हकदार हैं।

राहुल ने असम में पिछली चुनावी रैलियों में आरोप लगाया था कि ‘नागपुर सेना’ राष्ट्र को नियंत्रित कर रही है। इसकी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी सहित कई भाजपा नेताओं ने आलोचना की थी।

कामरूप और नलबाड़ी जिलों में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने पहले ही भारतीय अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है और जीएसटी (माल और सेवा कर) और विमुद्रीकरण की शुरुआत करके देशभर में लोगों को परेशान किया है, और अब यह तीन कृषि कानून पेश कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने की कोशिश कर रही है।

श्री गांधी ने दावा किया कि असम में अधिकतम बेरोजगारी थी और नोटबंदी व जीएसटी के कारण रोजगार के क्षेत्र में और गिरावट आई है जबकि सरकार अरबपतियों को भारी आर्थिक राहत दे रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार अपने दोस्तों को हवाईअड्डों, चाय बागानों और तेल क्षेत्रों की तरह देश की मूल्यवान संपत्ति दे रही है।

उन्होंने कहा,

“प्रत्येक राज्य में, भाजपा आग लगती है (नफरत फैलाती है) .. उनका एकमात्र उद्देश्य अपनी संपत्ति को अपने लोगों को देने के लिए उन्हें ले जाना है। उन्होंने कहा कि असम के संसाधनों और धन का उपयोग असमियों को करना चाहिए।”

कांग्रेस ने असम में पांच साल में युवाओं को पांच लाख सरकारी नौकरियां, 200 यूनिट प्रति घर मुफ्त बिजली, चाय बागान श्रमिकों को 365 रुपये दिहाड़ी और गृहणियों को 2,000 रुपये प्रतिमाह के अलावा राज्य में सीएए को लागू नहीं करने की गारंटी का वादा किया है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner