Home » समाचार » देश » नागरिकता संशोधन विधेयक का मकसद पूर्वोत्तर में ‘जातीय सफाया’ : राहुल
Rahul Gandhi

नागरिकता संशोधन विधेयक का मकसद पूर्वोत्तर में ‘जातीय सफाया’ : राहुल

Rahul Gandhi’s tweet on Citizenship (Amendment) Bill, 2019

नई दिल्ली, 11 दिसम्बर 2019 : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Former Congress President Rahul Gandhi) ने नागरिकता(संशोधन) विधेयक, 2019 (The Citizenship (Amendment) Bill, 2019) को ‘नरेंद्र मोदी-अमित शाह सरकार द्वारा पूर्वोत्तर में जातीय सफाया करने का प्रयास बताया’ और कहा कि यह लोगों पर ‘आपराधिक हमला’ है।

श्री गांधी ने ट्वीट किया,

“सीएबी मोदी-शाह सरकार द्वारा पूर्वोत्तर में जातीय सफाये का प्रयास है। यह पूर्वोत्तर पर, वहा के लोगों के जीवन के तौर-तरीके और भारत के विचार पर एक आपराधिक हमला है। मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा हूं और उनकी सेवा में तत्पर हूं।”

कल श्री गांधी ने विधेयक को संविधान पर हमला बताया था और कहा था कि जो कोई भी विधेयक का समर्थन करेगा, वह भारत की बुनियाद को नुकसान पहुंचाएगा।

विधेयक को सोमवार को लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा चर्चा के लिए पेश किया गया था और इसे सोमवार देर रात पारित किया गया।

विपक्षी पार्टियों ने विधेयक की प्रकृति का विरोध किया है और इसे मुस्लिम समुदाय के विरुद्ध बताया है, जिसके बारे में सरकार का कहना है कि यह विधेयक देश में रह रहे मुस्लिम समुदाय को प्रभावित नहीं करेगा।

राज्यसभा #RajyaSabha में आज नागरिकता(संशोधन) विधेयक, 2019 पर चर्चा हो रही है।

 

संघ से नहीं, इतिहास से कुछ सीखिए मोटा भाई, धर्म के आधार पर बना पाकिस्तान साल 1971 आते-आते टूट गया था

About hastakshep

Leave a Reply