कोविड-19 की स्थिति पर राहुल-प्रियंका ने उठाए सवाल

नई दिल्ली, 13 जुलाई 2020. देश में कोविड-19 से निपटने में बुरी तरह विफल रही केंद्र सरकार पर सवाल करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा वर्तमान महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोरोना की स्थिति को लेकर सवाल उठाये हैं और पूछा कि क्या इस लड़ाई में हमारी स्थिति अच्छी है।

श्री गांधी ने भारत, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, न्यूज़ीलैंड सहित कुछ देशों में कोरोना के मामलों को लेकर एक तुलनात्मक ग्राफ दिया है और भारत में कोरोना की स्थिति को लेकर सरकार से सवाल किया है।

कोविड संक्रमण में बढ़ोतरी का आंकड़ा देते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट किया,

‘‘कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत अच्छी स्थिति में है?”

गौरतलब है कि कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में आज सर्वाधिक 28,701 नए मामले सामने आने के साथ ही देश में संक्रमितों की कुल संख्या 8,78,254 और इसके मृतकों की संख्या 23,174 हो गई है।

उधर श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में कोरोना की स्थिति को लेकर सवाल उठाया।

श्रीमती गांधी ने कहा, “उप्र में पिछले तीन दिन में कोरोना के मामले 10 जुलाई – 1347 ,11 जुलाई – 1403 ,12 जुलाई – 1388। लॉकडाउन के वीकेंड ‘बेबी पैक’ का लॉजिक अब तक किसी को समझ नहीं आया। अपनी असफलता छुपाने के लिए खिलवाड़ जारी है। ‘मर्ज़ बढ़ता गया ज्यों ज्यों दवा की’।”

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations