Home » Latest » बैंक कर्मचारियों के समर्थन में बोले राहुल, सरकार लाभ का निजीकरण और नुकसान का राष्ट्रीयकरण कर रही है
Rahul Gandhi

बैंक कर्मचारियों के समर्थन में बोले राहुल, सरकार लाभ का निजीकरण और नुकसान का राष्ट्रीयकरण कर रही है

Rahul said in support of bank employees, the government is privatizing profits and nationalizing losses.

Congress leader Rahul Gandhi has again attacked the government for privatizing banks.

नई दिल्ली, 16 मार्च 2021.  पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बैंकों के निजीकरण को लेकर सरकार पर फिर हमला बोला है और बैंक कर्मचारियों के दो दिनी हड़ताल को अपना समर्थन दिया है।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “भारत सरकार लाभ का निजीकरण और नुकसान का राष्ट्रीयकरण कर रही है।”

कांग्रेस ने बैंक कर्मचारियों की दो दिवसीय देशव्यापी बैंक हड़ताल को समर्थन दिया

कांग्रेस ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण और बैंकिंग सुधारों के खिलाफ 15 और 16 मार्च के दो दिवसीय देशव्यापी बैंक हड़ताल को समर्थन दिया है।

कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कहा,

“हम सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल में भाग लेने वाले 10 लाख बैंक अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ एकजुटता से खड़े हैं।”

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू), जो नौ बैंक यूनियनों की एक संस्था है, द्वारा आहूत हड़ताल मोदी सरकार की प्राथमिकताओं के खिलाफ है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार के स्वामित्व वाले बैंकों को निजी हाथों को बेचने का कोई औचित्य नहीं है – विदेशी या घरेलू। यह सरकार के 1.75 लाख करोड़ रुपये के विनिवेश लक्ष्य को पूरा करने के लिए एक हताश प्रयास है।

कांग्रेस ने कहा कि बैंकों का राष्ट्रीयकरण (Nationalization of banks) पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा उठाया गया एक साहसिक कदम था, जिसमें बैंकिंग को हर भारतीय के करीब लाना था। इसका मकसद बैंकों और ऋणों को उन लोगों तक ले जाना था, जो फाइनेंस से दूर थे। पीएसयू बैंक केवल लाभ कमाने वाले उद्यम नहीं हैं, वे सामाजिक सुधार के लिए भी उपयोग किए जाते हैं।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

dr. bhimrao ambedkar

65 साल बाद भी जीवंत और प्रासंगिक बाबा साहब

Babasaheb still alive and relevant even after 65 years क्या सिर्फ दलितों के नेता थे …

Leave a Reply