राहुल ने चेताया, सरकार दे नकद राशि वरना मध्यमवर्ग हो जाएगा गरीब और पूंजीपति बन जाएंगे देश के मालिक, पर भक्त पीट रहे हैं ताली-थाली

Rahul Gandhi

नई दिल्ली, 14 जून 2020. देश भर में कोरोना वायरस के प्रकोप और अनियोजित लॉकडाउन की वजह से व्यापार और अर्थव्यवस्था तबाह हो गए हैं, जो पहले से ही रसातल में जा रहे थे। करोड़ो लोग पिछले 80 दिनों में बेरोजगार हो गए हैं। ऐसी ही एक खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चेताते हुए कहा है कि अगर केंद्र सरकार ने नकद राशि नहीं दी तो मध्यमवर्ग गरीब हो जाएगा और पूंजीपति देश के मालिक बन जाएंगे। लेकिन मजे की बात यह है कि अंधभक्ति में डूबा हुआ मध्य वर्ग अभी भी अपनी आसन्न तबाही से आंखें मूँदे हुए ताली-थाली पीटने में व्यस्त है।

उन्होंने दावा किया कि अगर सरकार ने अर्थव्यवस्था को शुरू करने के लिए नकद राशि खर्च नहीं की तो देश के गरीब तबाह हो जाएंगे और सांठगांठ वाले पूंजीपति (क्रोनी कैपिटलिस्ट) देश के मालिक बन जाएंगे।

कांग्रेस नेता ने एक निजी कंपनी में छंटनी से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया,

‘अगर भारत सरकार अर्थव्यवस्था को शुरू करने के लिए अब नकद नहीं डालती है तो गरीब तबाह हो जाएंगे, मध्य वर्ग नया गरीब हो जाएगा। सांठगांठ वाले पूजी पूरे देश के मालिक बन जाएंगे।’

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से जुड़े संकट के आरंभ होने के बाद से ही कांग्रेस यह मांग कर रही है कि देश में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को अगले कुछ महीनों के लिए 7500 रुपये मासिक की मदद दी जाए और छोटे कारोबारों तथा नौकरियां बचाने के लिए भी वित्तीय पैकेज दिया जाए। राहुल गांधी ने फरवरी माह की शुरूआत में ही चेताया था कि सरकार कोरोन की तरफ से आंखें मूँदे हुए है और भयंकर तबाही आने वाली है। उस समय सत्तारूढ़ दल ने उनका मजाक उड़ाया था और अब जब तबाही के मंजर दिखने लगे हैं, तब राहुल का मजाक बनाने लोग बंकरों की तलाश में हैं।

 

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें