Home » Latest » आरएसएस को अब संघ परिवार नहीं कहेंगे राहुल
Rahul Gandhi

आरएसएस को अब संघ परिवार नहीं कहेंगे राहुल

Rahul will no longer call RSS as Sangh Parivar

नई दिल्ली, 25 मार्च 2021. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को अब संघ परिवार नहीं कहेंगे।

उत्तर प्रदेश में एक ट्रेन से नन को उतारकर उनसे पूछताछ करने की विवादित घटना के बाद राहुल ने यह प्रतिक्रिया दी है।

हिंदी में ट्वीट करते हुए राहुल गांधी ने लिखा,

“मेरा मानना है कि आरएसएस व संबंधित संगठन को संघ परिवार कहना सही नहीं – परिवार में महिलाएं होती हैं, बुजुर्गों के लिए सम्मान होता है, करुणा और स्नेह की भावना होती है – जो आरएसएस में नहीं है। अब आरएसएस को संघ परिवार नहीं कहूंगा!”

खबरों के मुताबिक, यह घटना पिछले हफ्ते हुई थी, जब नन हरिद्वार-पुरी उत्कल एक्सप्रेस में यात्रा कर रही थीं। 19 मार्च को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्यों ने ननों पर धर्म परिवर्तन करने का आरोप लगाया था।

रेलवे स्टेशन पर ननों से पूछताछ की गई और जांच के बाद उन्हें आगे बढ़ने की अनुमति दे दी गई, जिसमें किसी तरह का धर्म परिवर्तन का मामला नजर नहीं आया।

एबीवीपी आरएसएस की छात्र शाखा है, जो भाजपा की वैचारिक संरक्षक है।

ट्रेन की बोगी का 25 सेकंड का वीडियो कुछ पुरुषों द्वारा घिरी महिलाओं को दिखाता है, जिनमें से कुछ पुलिसकर्मी लगती हैं।

ननों के साथ कथित बदसलूकी का वीडियो वायरल होने के बाद राहुल गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर करारा हमला बोला है।

एक अन्य ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि उत्तर प्रदेश में केरल की नन पर हुआ हमला संघ परिवार के जहरीले प्रोपोगेंडा (दुष्प्रचार) का नतीजा है, जो अल्पसंख्यकों को कुचलने के लिए एक धर्म को दूसरे धर्म से लड़ाता है।

राहुल ने कहा कि हमारे लिए यह एक राष्ट्र के रूप में आत्मनिरीक्षण करने और ऐसी विभाजनकारी ताकतों को हराने के लिए सुधारात्मक कदम उठाने का समय है।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

two way communal play in uttar pradesh

उप्र में भाजपा की हंफनी छूट रही है, पर ओवैसी भाईजान हैं न

उप्र : दुतरफा सांप्रदायिक खेला उत्तर प्रदेश में भाजपा की हंफनी छूट रही लगती है। …

Leave a Reply