रिसर्च में दावा, गले लगने से तनाव होता है कम, याददाश्त के लिए भी जरूरी गले लगना

रिसर्च में दावा, गले लगने से तनाव होता है कम, याददाश्त के लिए भी जरूरी गले लगना

क्यों जरूरी है गले लगना ?

मुंबई, 03 अक्टूबर, (न्यूज़ हेल्पलाइन)। एक नए अध्ययन में बताया गया है कि मुश्किल परिस्थिति में अगर कोई अपना गले लगा ले तो तनाव कम महसूस होता है। अध्ययन बताता है कि ऐसा महिलाओं के संदर्भ में ज्यादा होता है।

कोर्टिसोल हॉर्मोन की भूमिका

76 लोगों पर किए गए एक अध्ययन में यह सामने आया कि जब किसी अपने को महिला गले लगाती है, तब उस व्यक्ति में कोर्टिसोल नाम का तनाव हॉर्मोन का कम उत्पादन होता है। परंतु यह किसी पुरुष के गले लगाने से नहीं होता।

कोर्टिसोल के प्रभाव को कम करता है ऑक्सीटोसिन

यह शोध अमेरिका के एरिजोना विश्वविद्यालय (University of Arizona of America) में की गई। शोधकर्ताओं के मुताबिक, कोर्टिसोल मेमोरी पर प्रभाव डाल सकता है, जो तनावपूर्ण कार्य को आगे और भी कठिन बना सकता है। किसी व्यक्ति के द्वारा स्नेहपूर्वक तरीके से गले लगाने से ऑक्सीटोसिन नाम के हॉर्मोन का उत्पादन होता है। यह कोर्टिसोल के प्रभाव को कम करता है।

शोध के मुताबिक, इसका सामाजिक कारण भी हो सकता है। कई पुरुष गले लगाने के बारे में उतना अच्छा महसूस नहीं करते, क्योंकि उन्हें सामाजिक रूप से पुरुषों के लिए असामान्य या अजीब माना जाता है। दूसरा कारण किसी महिला और पुरुष के बीच स्पर्श करने का भी हो सकता है।

ऐसा ही एक शोध 2018 में भी किया गया था। इसमें कहा गया था कि किसी नकारात्मक घटना के बाद किसी अपने के गले लगने से व्यक्ति बेहतर महसूस करता है।

वैज्ञानिकों का यह भी कहना है कि गले लगाने से पहले यह भी समझें कि सामने वाले को उसकी जरूरत है भी या नहीं, क्योंकि सामने वाले की मनोस्थिति ही गले लगने पर उसके असर को बता सकेगी। इस अध्ययन के नतीजे नेचर जर्नल में प्रकाशित किए गए हैं।

Research claims that hugging reduces stress, hugging is also necessary for memory

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner