छत्तीसगढ़ में सरकारी संरक्षण में नकली बीजों की बिक्री : किसान सभा

छत्तीसगढ़ में सरकारी संरक्षण में नकली बीजों की बिक्री : किसान सभा

सरकारी संरक्षण में बिक रहे नकली बीज, बिना परीक्षण बिक्री हो प्रतिबंधित : किसान सभा

Sale of fake seeds under government protection in Chhattisgarh: Kisan Sabha

रायपुर, 31 मई 2022: छत्तीसगढ़ किसान सभा ने बाजार में सरकार के संरक्षण में नकली बीजों के बिकने का आरोप लगाया है।

किसान सभा का कहना है कि बिना बीजों का परीक्षण किए ब्लैक लिस्टेड कंपनी जेके सीड्स के बीजों को किसानों के बीच वितरित करने से यह साफ हो गया है। इससे रायपुर जिले में ही मक्का और धान की खेती करने वाले हजारों किसानों को नुकसान पहुंचा है।

आज यहां जारी एक बयान में छग किसान सभा के अध्यक्ष संजय पराते और महासचिव ऋषि गुप्ता ने कहा है कि जेके सीड्स के नकली बीजों (JK Seeds Fake Seeds) को बीज निगम के माध्यम से पिछले वर्ष भी वितरित किया गया था। ब्लैक लिस्टेड होने के बाद भी फिर इस वर्ष किया गया है। होना तो यह चाहिए था कि नकली बीज बांटने के अपराध में इस कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही होती, बजाए इसके इसे पुरस्कृत किया गया है।

किसान सभा नेताओं ने कहा कि इस धोखाधड़ी में केवल बीज निगम ही नहीं, कृषि विभाग और कृषि मंत्री भी शामिल है और इन सभी जिम्मेदारों के खिलाफ सरकार को कार्यवाही करनी चाहिए।

किसान सभा ने मांग की है कि इस कंपनी द्वारा ठगे गए सभी किसानों की सूची सरकार सार्वजनिक करें और न्यूनतम समर्थन मूल्य के आधार पर उन किसानों को हुए नुकसान की भरपाई करें।

किसान सभा ने यह भी मांग की है कि प्रदेश के बाजारों में सरकारी लैब में परीक्षण के बिना किसी भी कंपनी के बीज बेचने को प्रतिबंधित किया जाए।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.