सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने की कार्बन न्यूट्रैलिटी रोड मैप की घोषणा

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने की कार्बन न्यूट्रैलिटी रोड मैप की घोषणा

2050 तक कार्बन तटस्थता और सौ प्रतिशत अक्षय ऊर्जा उपयोग लक्ष्य हासिल करने का रोडमैप घोषित किया सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने

नई दिल्ली, 15 सितंबर 2022. एक बेहद रोचक और सकारात्मक घटनाक्रम में, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी ने साल 2050 तक कार्बन तटस्थता और सौ फीसद अक्षय ऊर्जा उपयोग लक्ष्य (renewable energy use target) हासिल करने के लिए अपने रोड मैप की घोषणा की है।

RE100 में शामिल होने की सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की एक वैश्विक कॉर्पोरेट पहल

दरअसल मामले से परिचित उद्योग जगत के सूत्रों के अनुसार, यह कंपनी  की RE100 में शामिल होने की एक वैश्विक कॉर्पोरेट पहल है जिसके अंतर्गत जलवायु परिवर्तन और अन्य पर्यावरणीय मुद्दों से निपटने के लिए रिन्यूएबल स्रोत वाली ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

दक्षिण कोरिया का सबसे अमीर उद्योग समूह है सैमसंग

सैमसंग, दक्षिण कोरिया का न सिर्फ सबसे अमीर उद्योग समूह है बल्कि देश के शीर्ष चार व्यावसायिक उद्यमों में से एक है। सैमसंग के साथ अन्य बड़े उद्योगों का नाम है एसके, हुंडई, और एलजी और इन्होने अभी तक कार्बन तटस्थता योजनाओं को शुरू नहीं किया है।

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के उपाध्यक्ष हान जोंग-ही ने इस महीने की शुरुआत में जर्मनी में IFA 2022 उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स शो में इस संभावित घोषणा का संकेत दिया था क्योंकि उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि कंपनी सततता योजनाओं की घोषणा करेगी। 

सूत्रों के अनुसार, सैमसंग से अपेक्षा की जाती है कि वह अपने उत्पादन से सीधे उत्सर्जित होने वाली ग्रीनहाउस गैस को कम करने के बारे में अपनी योजनाओं की रूपरेखा तैयार करे, जिसे “स्कोप 1 उत्सर्जन” के रूप में जाना जाता है और बिजली और एयर कंडीशनिंग जैसे अप्रत्यक्ष स्रोतों, जिन्हें “स्कोप 2 उत्सर्जन” कहते हैं,  से उत्सर्जन में कटौती करने के तरीकों पर गौर करे। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सैमसंग ने संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप और चीन सहित अपने प्रमुख विदेशी उत्पादन स्थलों में पहले ही 100 प्रतिशत रिन्यूबल ऊर्जा उपयोग हासिल कर लिया है, लेकिन घरेलू बाज़ार में अब तक ऐसा नहीं हुआ था।

कंपनी के अनुसार, लैटिन अमेरिका और दक्षिण पश्चिम एशिया में भी जल्द ही यह लक्ष्य हासिल करने की उम्मीद है। फिलहाल कंपनी द्वारा ब्राजील और मैक्सिको में क्रमशः 94 प्रतिशत और 71 प्रतिशत है रिन्यूबल ऊर्जा का प्रयोग हो रहा है। 

इस घटनाक्रम पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए एपीजी परिसंपत्ति प्रबंधन के एशिया प्रशांत, में जिम्मेदार निवेश और शासन के प्रमुख, यू-क्यूंग पार्क, एक प्रेस विज्ञप्ति में कहते हैं, “यह स्वागत योग्य खबर है। इस कदम का मतलब है कि सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के वरिष्ठ प्रबंधन ने बदलते कारोबारी माहौल और तेजी से बदलती जलवायु के अनुरूप फैसला लिया है। पिछले कुछ वर्षों में, सैमसंग के ग्राहकों और साथियों सहित वैश्विक अग्रणी आईटीसी कंपनियों ने न केवल कार्बन से संबंधित नियामक (और सामाजिक) दबावों को पूरा करने के लिए, बल्कि जलवायु परिवर्तन के समाधान का हिस्सा बनने के लिए भी प्रयास तेज कर दिए हैं। दूसरी ओर, जबकि इसकी कार्बन उत्सर्जन संख्या में वृद्धि जारी है, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने कार्बन उत्सर्जन को सार्थक रूप से कम करने के मामले में एक स्पष्ट प्रतिबद्धता बनाने में थोड़ी देरी की है। मगर यह सकारात्मक विकास प्रशंसनीय है।”

सेमीकंडक्टर बाजार में वैश्विक नेता भी है सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स बिक्री के हिसाब से दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी कंपनी है, और 12.3% की हिस्सेदारी के साथ सेमीकंडक्टर बाजार में एक वैश्विक नेता भी है और 2021 में लगभग 20% की हिस्सेदारी के साथ स्मार्टफोन बाजार में है।

दक्षिण कोरिया में, उनके विकास ने उन्हें सबसे बड़ा बिजली उपभोक्ता और सबसे बड़ा ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जक बना दिया है। पिछले 10 वर्षों में, कंपनी के ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में लगातार वृद्धि हुई है और इसमें 137% से अधिक की वृद्धि हुई है।

इन्हीं सब वजहों से उन्हें लंबे समय से 100% रिन्यूबल ऊर्जा की ओर बढ़ने का आग्रह किया गया है, और 2018 में, कंपनी ने प्रतिज्ञा की कि 2020 तक अमेरिका, चीन और यूरोप में सभी संचालन 100% रिन्यूबल ऊर्जा से संचालित होंगे, जिसे हासिल कर लिया गया है। लेकिन सैमसंग ने दक्षिण कोरिया और वियतनाम में कार्यस्थलों के लिए, जहां बिजली उत्पादन जीवाश्म ईंधन पर बहुत अधिक निर्भर करता है, कोई प्रतिबद्धता नहीं दिखाई। यह प्रतिज्ञा करते समय सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के कुल बिजली उपयोग के 80% से अधिक के लिए जीवाश्म ईंधन जिम्मेदार है।

अगर यह घोषणा सार्थक स्वरूप लेती है तो साल 2050 तक दक्षिण कोरिया और वियतनाम में सैमसंग 100% रिन्यूबल ऊर्जा पर निर्भर हो जाएगा।

दक्षिण कोरिया और वियतनाम में सैमसंग की सेमीकंडक्टर और मोबाइल उत्पादन सुविधाएं स्थित हैं, और यह पहल दोनों देशों को स्वच्छ ऊर्जा की ओर संक्रमण में तेजी लाने में मदद करेगा। यह विशेष रूप से दक्षिण कोरिया के लिए एक महत्वपूर्ण समय पर आएगा, क्योंकि परमाणु ऊर्जा के पक्ष में नई सरकार ने हाल ही में एक योजना का खुलासा किया है जिसका लक्ष्य मिश्रण में अपने आरई लक्ष्य को पिछले 30% से घटाकर 21% करना है।

Samsung announces carbon neutrality road map

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner