सरकार की विफलता पर 6 मई को भाकपा का राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन

Communist Party of India CPI

CPI’s nationwide demonstration on 6 May on government failure

नई दिल्ली, 04 मई 2020. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party of India CPI) के केंद्रीय सचिव मण्डल ने सभी राज्य, जिला व पार्टी ब्रांचों से covid 19 के कारण तालाबंदी के मद्देनज़र राष्ट्रीय, राज्य स्तर व स्थानीय समस्या के ऊपर 6 मई बुधवार को विरोध करने का आवाहन किया है.

पार्टी की दिल्ली राज्य इकाई के सचिव प्रोफेसर दिनेश वार्ष्णेय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली में सरकार की आज की घोषणा को देखने के बाद यह सभी जिला सचिवों, ब्रांच सचिवों व सभी कामरेड्स से अनुरोध किया है कि सामाजिक दूरी को बनाते हुए एक व अधिक प्ले कार्ड्स हाथ से लिखकर जिस भी तरीके से आप विरोध प्रकट कर सकते हैं वो इन समस्याओ पे करें.

  1. सभी प्रवासी मज़दूरों को पूर्ण खाना दिया जाये और अगर वो अपने घर अपने राज्यों में जाना चाहते हैं, तो दिल्ली केंद्रीय व दिल्ली सरकार उनके जाने का मुफ्त इंतजाम करें.
  2. ज़िन मज़दूरों की नौकरिया चली गयी हैं केंद्र व दिल्ली सरकार तुरंत उनको 7000/- रूपये दे व 3 महीने का राशन तुरंत दे.
  3. छात्रों की समस्या भी गंभीर है. जो छात्र अपने घर दिल्ली आना चाहते हैं या दिल्ली से अपने घरों को जाना जाना चाहते हैं उनके आने व जाने का केंद्र व दिल्ली सरकार तुरंत मुफ्त इंतजाम करें.
  4. दिल्ली के सभी हॉस्पिटलों में आम जनता को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. कोरोना व अन्य बीमारियों से ग्रस्त मरीज़ों को लम्बी-लम्बी लाइनों में लगना पड़ रहा है. अधिकतर निजी हॉस्पिटल ने अपनी ओ पी डी बंद रखी हुई है. या तो ये खोलें या सरकार इनको तुरंत अपने हाथो में ले ले. मौज़ूदा समय में सभी का इलाज तुरंत व मुफ्त हो।
  5. दिल्ली के रेहड़ी पटरी वाले, ऑटो -टैक्सी चालक, छोटे व मझोले व्यापारियों को भी अब बहुत ही भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. अतः दिल्ली व केंद्र सरकार इन्हें भी तुरंत वित्तीय सहायता दे व राहत दे.
  6. दिल्ली मे केंद्रीय सरकार ने सामजिक कार्यक़र्ताओं, छात्र नेताओं को इस मुश्किल समय मे भी राजनीतिक द्वेष के तहत गिरफ्तारियां कर रखी हैं, जबकि बीजेपी के वो नेता खुले घूम रहे हैं, जिन्होंने उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़काऊ भाषण दिये थे जिसके कारण वहां साम्प्रदायिक दंगे भड़के.

जामिआ मिलिया की महिला छात्र व अन्य छात्र नेताओं को तुरंत रिहा किया जाये

  1. केंद्र सरकार सभी राज्यों को उनका जी एस टी बकाया तुरंत दे व उनको अन्य सरकारी सहायता भी दे.
  2. दिल्ली सरकार व केंद्र सरकार तुरंत सरकारी स्वास्थ्य की सुविधाओं न सिर्फ दिल्ली में बढ़ाये बल्कि पूरे भारत में बढ़ाये.

सभी स्वास्थ्य कर्मियों, सफाई कर्मियों, पुलिस आदि को पीपीई किट के साथ ही ड्यूटी पे भेजे. डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों की बेहद कमी को योजनाबद्ध तरीके से दूर करें.

  1. केंद्रीय सरकार व दिल्ली सरकार ने जो अपने कर्मचारियों का 18 महीने का डी ए फ्रीज़ किया है वो अमानवीय है व उस आदेश को तुरंत वापिस लें. इसके बदले ये सुपर रिच, पूंजीपतियों की छूटें हटाकर, उनसे बैंकों का बकाया वसूल कर व सरकार अपनी फिजूलखर्ची को बंद क़र इस महामारी से लड़ने का इंतजाम करें.

 

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें