एसबीआई के इस कदम से सस्ता हो सकता है आवास ऋण

एसबीआई के इस कदम से सस्ता हो सकता है आवास ऋण

एसबीआई ने एमसीएलआर में की कटौती, आवास ऋण होगा सस्ता

SBI cuts MCLR, home loan will be cheaper

मुंबई, 7 फरवरी (आईएएनएस)| देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने फंड आधारित ब्याज दर की सीमांत लागत यानी एमसीएलआर Marginal Cost of Funds based Lending Rate (MCLR) में 0.5 फीसदी की कटौती की है, जो 10 फरवरी से लागू होगी। इसके बाद एसबीआई से आवास और ऑटो ऋण लेना सस्ता हो जाएगा।

क्या होती है एमसीएलआर What is MCLR

एमसीएलआर किसी वाणिज्यिक बैंक द्वारा तय वह न्यूनतम ब्याज दर है, जिस पर बैंक अपने ग्राहकों को कर्ज दे सकता है। एमसीएलआर से नीचे की ब्याज दर पर बैंक को कर्ज देने की अनुमति नहीं है।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा गुरुवार को प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट को यथावत रखने के निर्णय की घोषणा के एक दिन बाद शुक्रवार को एसबीआई ने एमसीएलआर (SBI MCLR) में कटौती की घोषणा की। नई कटौती के बाद एसबीआई का एमसीएलआर 7.90 फीसदी से घटकर 7.85 फीसदी हो गया है। चालू वित्त वर्ष में एसबीआई की यह लगातार नौवीं कटौती है।

देश के सबसे बड़े बैंक ने मियादी जमा पर भी ब्याज दर में कटौती की है। एसबीआई ने रिटेल मियादी जमा पर ब्याज दरों में 10-50 आधार अंकों की कटौती की है, जबकि थोक मियादी जमा पर ब्याज दरों में 25-50 आधार अंकों की कटौती की है।

बता दें कि आरबीआई ने गुरुवार को रेपो रेट 5.15 फीसदी पर बरकरार रखने का फैसला किया।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner