Home » समाचार » देश » झारखण्ड विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण की 20 सीटें तय करेंगी, किसके सिर सजेगा मुख्यमंत्री का ताज
Politics

झारखण्ड विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण की 20 सीटें तय करेंगी, किसके सिर सजेगा मुख्यमंत्री का ताज

झारखण्ड विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण की 20 सीटें तय करेंगी, किसके सिर सजेगा मुख्यमंत्री का ताज

रांची से शाहनवाज़ हसन, 05 दिसंबर 2019. झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण (Second phase of Jharkhand assembly election) में 20 सीटों पर सात दिसंबर को मतदान होना है। दूसरे चरण में विभिन्न दलों के 260 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

दूसरे चरण की 20 सीटें तय करेंगी किसके सिर सजेगा मुख्यमंत्री का ताज

दूसरे चरण के मतदान में देश भर की निगाह कोल्हान प्रमंडल पर टिकी है। दूसरे चरण के चुनाव में जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट (Jamshedpur Eastern Assembly Seat) से झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास को उनके ही काबिना मंत्री रहे सरयू राय से सीधे मुकाबले में कड़ी टक्कर दे रहे हैं, हालांकि कांग्रेस और झाविमो ने भी इस सीट से उम्मीदवार दिया है, फिर भी यह चुनाव सीधे मुकाबले की ओर बढ़ता दिखायी दे रहा है।

जमशेदपुर पश्चिम सीट (Jamshedpur West Seat) पर कांग्रेस के पूर्व मंत्री बन्ना गुप्ता का सीधा मुकाबला भाजपा के देवेंद्र सिंह से है, जमशेदपुर पूर्वी सीट से असद्दुदीन ओवैसी की पार्टी AIMIM एवं आम आदमी पार्टी ने भी उम्मीदवार दिया है।

ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र से इस बार 4 मज़बूत कुर्मी उम्मीदवार के मैदान में होने से पूर्व विधायक अरविंद सिंह मलखान की स्थिति बेहतर नज़र आ रही है।

ईचागढ़ का चुनाव विस्थापितों के मुद्दों को लेकर काफ़ी दिलचस्प हो गया है। निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अरविंद सिंह मस्तान की सभा मे बिना किसी स्टार प्रचारक एवं नाच गाने के लोगों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है।

चाईबासा सीट पर भाजपा पूर्व नौकरशाह प्रदेश प्रवक्ता जे बी तुबिद को पुनः टिकट देकर पहली बार जीत दर्ज करने के लिये प्रयासरत है हालांकि वर्तमान झामुमो विधायक दीपक बिरुवा भी मजबूत स्थिति में हैं।

जुगसलाई विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में झामुमो के मंगल कालिंदी मज़बूत स्थिति में दिखायी दे रहे हैं, वहीं बहरागोड़ा विधानसभा सीट पर झामुमो से भाजपा में शामिल हुये कुणाल सारंगी का मुकाबला समीर महांती से है। दोनों के बीच नज़दीकी मुकाबला देखने को मिल रहा है।

 पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा एवं उनकी पत्नी चाईबासा सांसद गीता कोड़ा पश्चिम सिंहभूम की दो सीटों पर कांग्रेस की जीत के लिये दिन रात मेहनत कर रहे हैं हालांकि कांग्रेस के स्टार प्रचारकों ने अब तक इन क्षेत्रों की अब तक कोई सुध नहीं ली है।

घाटशिला विधानसभा सीट से कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बालमुचू आजसू पार्टी से चुनावी मैदान में हैं। वर्तमान भाजपा विधायक लक्ष्मण टुड्डू का टिकट कटने पर इस सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में झामुमो के पूर्व विधायक रामदास सोरेन मज़बूत स्थिति में दिखाई दे रहे हैं।

कोल्हान में भाजपा और झामुमो के बीच कांटे की टक्कर है, राजनीतिक विशेषज्ञ कोल्हान में झामुमो को मज़बूत बता रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह की जनसभा में लोगों की कम भीड़ का होना चर्चा का विषय बना हुआ है।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम (Shahnawaz Alam, Chairman, State Congress Minority Department)

अखिलेश डरें नहीं, डट कर आज़म खान की रिहाई के लिए आवाज़ बुलंद करें : शाहनवाज़ आलम

डॉ. कफील और आज़म खान सहित तमाम बेगुनाह सियासी और समाजी नेताओं को रिहा करे …

Leave a Reply