Home » समाचार » देश » आईएमएफ द्वारा भारत के आर्थिक विकास दर अनुमान में कटौती करने से अच्छे दिनों में सेंसेक्स 200 अंक से ज्यादा लुढ़का, निफ्टी भी फिसला
India news in Hindi

आईएमएफ द्वारा भारत के आर्थिक विकास दर अनुमान में कटौती करने से अच्छे दिनों में सेंसेक्स 200 अंक से ज्यादा लुढ़का, निफ्टी भी फिसला

Sensex falls over 200 points in good days as IMF cuts India’s economic growth estimate, Nifty also slips

मुंबई, 21 जनवरी 2020.  कमजोर कारोबारी रुझानों के बीच मंगलवार को सेंसेक्स और निफ्टी पिछले सत्र के मुकाबले गिरावट के साथ खुले। दोनों प्रमुख सूचकांकों में लाल निशान के साथ कारोबार चल रहा था। आंरभिक कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से ज्यादा लुढ़का और निफ्टी भी 60 अंक से ज्यादा फिसला।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत के आर्थिक विकास दर अनुमान में कटौती (IMF cuts India’s economic growth rate estimate) करने से बाजार में कारोबारी रुझान कमजोर था।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (Bombay Stock Exchange’s leading sensitive index Sensex) सुबह 9.46 बजे पिछले सत्र से 23.65 अंक नीचे 41,505.26 पर बना हुआ था। जबकि इससे पहले सेंसेक्स पिछले सत्र से 41.34 अंकों की गिरावट के साथ 41,487.57 पर खुला और 41,301.63 तक लुढ़का।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज National Stock Exchange (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र के मुकाबले 12.05 अंकों की कमजोरी के साथ 12,212.50 पर कारोबार कर रहा था। इससे पहले निफ्टी पिछले सत्र से 29.15 अंकों की गिरावट के साथ 12,195.30 पर खुला और 12,162.45 तक लुढ़का।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने चालू वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक विकास दर के अपने अनुमान को 6.1 फीसदी से घटाकर 4.8 फीसदी कर दिया है।

आईएमएफ ने कहा कि घरेलू मांग सुस्त रहने और गैर-बैंकिंग क्षेत्र के दबाव में रहने के कारण चालू वित्त वर्ष में भारत में आर्थिक गतिविधियां कमजोर रह सकती है, लेकिन अगले साल आर्थिक सुस्ती दूर होने की उम्मीद है।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Shailendra Dubey, Chairman - All India Power Engineers Federation

विद्युत् वितरण कम्पनियाँ लॉक डाउन में निजी क्षेत्र के बिजली घरों को फिक्स चार्जेस देना बंद करें

DISCOMS SHOULD INVOKE FORCE MAJEURE CLAUSE TOSAVE FIX CHARGES BEING PAID TO PRIVATE GENERATORS IN …

Leave a Reply