विशेष ओलंपिक भारत के मेगा हेल्थ फेस्ट का आयोजन 5 अप्रैल को

विशेष ओलंपिक भारत के मेगा हेल्थ फेस्ट का आयोजन 5 अप्रैल को

Special Olympics Bharat’s mega health fest to be held on 5th April

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत विशेष ओलंपिक भारत द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य शिविर के लिए की गई है एक सकारात्मक पहल

गाजियाबाद, 03 अप्रैल 2022 । विशेष ओलंपिक भारत के मेगा हेल्थ फेस्ट का आयोजन आगामी 5 अप्रैल को सुबह 8 बजे से सायं 5:00 बजे तक अमर ज्योति स्कूल, कड़कड़डूमा, दिल्ली में किया जाएगा, जहां कुल 800 एथलीटों की स्वास्थ्य जांच की जाएगी। इस मौके पर आयोजित समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डॉ महेंद्र नाथ पांडे एवं केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह होंगे। वहीं, यशोदा सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, कौशाम्बी के डायरेक्टर डॉ उपासना अरोड़ा के कुशल निर्देशन में स्वास्थ्य जांच कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

हॉस्पिटल के एमडी डॉ पी एन अरोड़ा और डायरेक्टर उपासना अरोड़ा के हवाले से यह जानकारी देते हुए हॉस्पिटल के कॉरपोरेट कम्युनिकेशन हेड गौरव पांडेय ने बताया कि यह शिविर आजादी का अमृत महोत्सव के तहत विशेष ओलंपिक भारत द्वारा की गई एक सकारात्मक पहल है, जिसके तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य शिविर का आयोजन देशव्यापी पैमाने पर किया जा रहा है।

विशेष ओलंपिक भारत, जो एक मान्यता प्राप्त संगठन है, की अध्यक्ष डॉ. मल्लिका नड्डा ने बताया कि यह राष्ट्रीय खेल संघ, युवा मामले और खेल मंत्रालय के तहत खेल के माध्यम से बौद्धिक विकलांग बच्चों और वयस्कों के खेल और अन्य जीवन कौशल के विकास के लिए काम करता है। इन एथलीटों को विकसित करने और बनाने में मदद करने के लिए विशेष ओलंपिक भारत द्वारा किये गए इस पहल के लिए आपके समर्थन की ओर देखते हुए हर्षित हो रहा है, क्योंकि इसकी सफलता से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यह देश गौरवान्वित होगा।

हॉस्पिटल के संचार प्रमुख श्री पांडेय ने बताया कि सर्वश्रेष्ठ खेल अनुभव प्रदान करने के लिए, विशेष ओलंपिक स्क्रीन और छह स्वास्थ्य विषयों जैसे आंखों की देखभाल, मौखिक स्वास्थ्य, श्रवण, पैर, स्वास्थ्य और पोषण में अनुवर्ती देखभाल प्रदान करता है। आपको पता है कि मुख्य रूप से स्कूलों के बंद होने के कारण कोविड-19 के कारण स्वास्थ्य और खेल कार्यक्रम को भारी झटका लगा था। इसलिए हमारे एथलीटों को खेल के मैदान में वापस लाने के लिए यानी खेलने के लिए वापसी एक अभियान है, जिसके तहत हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वे लंबी अनुपस्थिति के बाद भी खेलों में भाग लेने के लिए एकदम फिट हैं।

उन्होंने बताया कि विशेष ओलंपिक भारत, आजादी का अमृत महोत्सव” की पहल के तहत बौद्धिक रूप से विकलांगों की मदद के लिए एक अखिल भारतीय उच्च गुणवत्ता वाली एथलीट स्वास्थ्य जांच परियोजना “रिटर्न टू प्ले- समावेश क्रांति” का आयोजन करने जा रहा है। जिसके तहत देश भर में एक ही दिन में इस कार्यक्रम में भारत के 75 केंद्रों के आसपास 75,000 एथलीटों की स्वास्थ्य जांच 7,500 स्वास्थ्य पेशेवरों द्वारा की जाएगी।

उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में देशभर में 750 खेल केंद्र स्थापित करना भी शामिल है, जहां इन एथलीटों को भारत भर में प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन 75 केंद्रों में, दिल्ली में हमारे पांच केंद्र हैं, अर्थात् कुलाची स्कूल- अशोक विहार, आशा किरण- रोहिणी, आंचल स्कूल- चाणक्य पुरी, अमर ज्योति- कड़कड़डूमा और अनंत केंद्र- कुतुब अंतर्ज्ञान क्षेत्र; जहां पर कुल 4500 एथलीटों की स्वास्थ्य जांच की जाएगी।

इस कार्यक्रम में गिनीज बुक के 3 विश्व रिकॉर्ड देखने को मिलेंगे। इस स्वास्थ्य कार्यक्रम के लिए रिकॉर्ड, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स बनाए जा रहे हैं।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner