कोरोना का कहर : गरीबों की देखभाल से केंद्र ने पल्ला झाड़ा, राज्यों पर डाली जिम्मेदारी

कोरोना का कहर : गरीबों की देखभाल से केंद्र ने पल्ला झाड़ा, राज्यों पर डाली जिम्मेदारी

राज्य गरीबों की देखभाल करें : स्वास्थ्य मंत्रालय

State should take care of the poor: Ministry of Health

नई दिल्ली, 22 मार्च 2020. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) ने कहा है कि राज्य सरकारें कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से निपटने की दिशा में काम करें और गरीबों की देखभाल करने की व्यवस्था करें।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि राज्यों के साथ बैठक में केंद्र ने निर्देश दिया कि ‘देश के 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति दी जाए और सभी गैर-आवश्यक सेवाओं पर रोक लगाई जाए।’

उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें स्थिति के आधार पर जिलों में इसकी समय सीमा बढ़ा सकती हैं।

उन्होंने कहा,

“कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ये उपाय महत्वपूर्ण हैं।”

अग्रवाल ने कहा,

“राज्यों को गरीबों और कमजोर लोगों की देखभाल के लिए निर्देशित किया गया है।”

रविवार को राज्य के मुख्य सचिवों के साथ कैबिनेट सचिव और प्रधानमंत्री के मुख्य सचिव की बैठक हुई।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner