Home » Latest » कोरोना का कहर : गरीबों की देखभाल से केंद्र ने पल्ला झाड़ा, राज्यों पर डाली जिम्मेदारी
The Joint Secretary, Ministry of Health & Family Welfare, Shri Lav Agarwal addressing a press conference on ‘COVID-19: Preparedness and Actions taken’, in New Delhi on March 21, 2020. The Secretary, Department of Consumer Affairs, Shri Pawan Kumar Agarwal, the Additional Secretary, Ministry of Home Affairs, Shri Anil Malik, the Additional Secretary, Ministry of External Affairs, Shri Dammu Ravi and the Principal Director General (M&C), Press Information Bureau, Shri K.S. Dhatwalia are also seen. Photo PIB CNR :139998 Photo ID :155608

कोरोना का कहर : गरीबों की देखभाल से केंद्र ने पल्ला झाड़ा, राज्यों पर डाली जिम्मेदारी

राज्य गरीबों की देखभाल करें : स्वास्थ्य मंत्रालय

State should take care of the poor: Ministry of Health

नई दिल्ली, 22 मार्च 2020. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) ने कहा है कि राज्य सरकारें कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से निपटने की दिशा में काम करें और गरीबों की देखभाल करने की व्यवस्था करें।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि राज्यों के साथ बैठक में केंद्र ने निर्देश दिया कि ‘देश के 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति दी जाए और सभी गैर-आवश्यक सेवाओं पर रोक लगाई जाए।’

उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें स्थिति के आधार पर जिलों में इसकी समय सीमा बढ़ा सकती हैं।

उन्होंने कहा,

“कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ये उपाय महत्वपूर्ण हैं।”

अग्रवाल ने कहा,

“राज्यों को गरीबों और कमजोर लोगों की देखभाल के लिए निर्देशित किया गया है।”

रविवार को राज्य के मुख्य सचिवों के साथ कैबिनेट सचिव और प्रधानमंत्री के मुख्य सचिव की बैठक हुई।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

नरभक्षियों के महाभोज का चरमोत्कर्ष है यह

पलाश विश्वास वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं। आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की …