Home » Latest » सेप्सिस से सुरक्षित रहना : संक्रमण को रोकना और जीवन रक्षा में सुधार
Health News

सेप्सिस से सुरक्षित रहना : संक्रमण को रोकना और जीवन रक्षा में सुधार

Staying Safe From Sepsis: Preventing Infections and Improving Survival

हम पहले भी कई समाचारों में बता चुके हैं कि सेप्सिस क्या है (Sepsis in Hindi)। लेकिन अब NIH News in Health के ताजा अंक में प्रकाशित एक खबर में सेंट लुइस में वाशिंगटन विश्वविद्यालय में सेप्सिस के अध्यापक डॉ. रिचर्ड हॉचकिस के हवाले से बताया गया है कि सेप्सिस कब होता है (When does sepsis occur) सेप्टिक शॉक क्या है (What is septic shock), सेप्सिस कैसे होता है (How does sepsis occur) सेप्सिस का खतरा किन्हें ज्यादा होता है (Who is more at risk of sepsis) सेप्सिस के शुरुआती लक्षण क्या हैं (What are the early symptoms of sepsis) सेप्सिस का निदान का बेहतर तरीका क्या है (What is the better way to diagnose sepsis) और सेप्सिस से बचने का सबसे अच्छा तरीका क्या है (What is the best way to avoid sepsis)

आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली हर दिन गश्त पर रहती है। यह आपके शरीर को बैक्टीरिया, वायरस और अन्य कीटाणुओं से बचाता है। लेकिन अगर कुछ गलत हो जाता है, तो यह बड़ी समस्याएं भी पैदा कर सकता है।

सेप्सिस कब होता है

सेप्सिस तब होता है जब आपके शरीर का संक्रमण सर्पिल नियंत्रण से बाहर हो जाता है। आपका शरीर संक्रमण से लड़ने के लिए साइटोकिन्स नामक रक्त में अणु छोड़ता है। लेकिन फिर वे अणु एक श्रृंखला प्रतिक्रिया को ट्रिगर करते हैं।

सेप्सिस क्या है

डॉ. रिचर्ड हॉचकिस, जो सेंट लुइस में वाशिंगटन विश्वविद्यालय में सेप्सिस पढ़ाते हैं (Dr. Richard Hotchkiss, who studies sepsis at Washington University in St. Louis), ने कहा “सेप्सिस (पूति) मूल रूप से एक जीवन के लिए खतरे वाला संक्रमण है, जो अंगों को शिथिलता पर (organ dysfunction,) ले जाता है”।

सेप्टिक शॉक क्या है

सेप्सिस के सबसे खतरनाक चरण को सेप्टिक शॉक कहा जाता है। यह कई अंगों को फेल कर सकता है, जिसमें यकृत, फेफड़े और गुर्दे शामिल हैं।

सेप्टिक शॉक कब शुरू होता है

सेप्टिक शॉक तब शुरू होता है जब संक्रमण के प्रति शरीर की प्रतिक्रिया रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाती है। जब रक्त वाहिकाएं क्षतिग्रस्त हो जाती हैं, तो आपका रक्तचाप बहुत कम हो सकता है। सामान्य रक्त प्रवाह के बिना, आपके शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल सकती है।

अमेरिका में लगभग 1.7 मिलियन लोग हर साल सेप्सिस का शिकार होते हैं। यहां तक कि आधुनिक उपचारों के बावजूद, यह अभी भी लगभग 270,000 लोगों को मारता है। कई ठीक हो जाते हैं। लेकिन कुछ को शरीर और मस्तिष्क की आजीवन क्षति होती है।

हॉचकिस बताते हैं कि हम है कि सेप्सिस के पहले संक्रमण की वजह से में कई लोगों बचा सकते हैं, लेकिन फिर भी उनकी कमजोर स्थिति के कारण उन्हें दूसरे संक्रमण से मरने का खतरा रहता है।

सेप्सिस कैसे होता है

अधिकांश सेप्सिस के मामले बैक्टीरियल संक्रमण से होते हैं। लेकिन सेप्सिस वायरल संक्रमणों जैसे कोविड -19 या फ्लू (इन्फ्लूएंजा) सहित अन्य संक्रमणों से भी हो सकता है।

सेप्सिस का खतरा किन्हें ज्यादा होता है

सेप्सिस किसी को भी हो सकता है, लेकिन कुछ लोग उच्च जोखिम में होते हैं, जिनमें शिशु, बच्चे और बड़े वयस्क शामिल हैं।

सेप्सिस के शुरुआती लक्षण क्या हैं

सेप्सिस के शुरुआती लक्षण (early symptoms of sepsis ) कई अन्य स्थितियों के समान हैं। इनमें बुखार, ठंड लगना, तेजी से सांस लेना या हृदय गति, एक त्वचा लाल चकत्ते, भ्रम और भटकाव शामिल हो सकते हैं।

लक्षणों को जानना महत्वपूर्ण है। सेप्सिस एक मेडिकल इमरजेंसी है। यदि आपको या आपके प्रियजन को संक्रमण है, जो ठीक नहीं हो रहा है या खराब हो रहा है, तो तुरंत चिकित्सा देखभाल प्राप्त करें।

सेप्सिस का निदान

शोधकर्ता अब सेप्सिस के निदान के बेहतर तरीकों की तलाश कर रहे हैं। इसमें एक रणनीति है  मरीज को सेप्सिस के जोखिम का अनुमान लगाने के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग करना है, (artificial intelligence to predict a patient’s risk of sepsis) जब उन्हें संक्रमण होता है।

कुछ दवाएं हैं जो सेप्सिस के इलाज में मदद करती हैं। डॉक्टर संक्रमण को रोकने और महत्वपूर्ण अंगों के कार्यों का समर्थन करने की कोशिश करते हैं। इसमें आमतौर पर ऑक्सीजन और तरल पदार्थ देना शामिल है।

हॉचकिस और अन्य शोधकर्ता हालत के लिए नए उपचार को तलाश रहे हैं। उनकी टीम यह मापने के लिए परीक्षण कर रही है कि कौन सी प्रतिरक्षा कोशिकाएं सेप्सिस से प्रभावित होती हैं।

वह कहते हैं कि सेप्सिस की पारंपरिक समझ यह है कि एक संक्रमण के प्रति शरीर बहुत तेजी से प्रतिक्रिया करता है। परन्तु उनके समूह ने पाया कि शरीर कुछ महत्वपूर्ण प्रकार की प्रतिरक्षा कोशिकाओं को भी बनाता है। यह शरीर के लिए संक्रमण को प्रभावी ढंग से लड़ने के लिए कठिन बनाता है जो पहले सेप्सिस को ट्रिगर करता है। यह बहुत अधिक संपार्श्विक क्षति का कारण बन सकता है, और आपको अन्य कीटाणुओं के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है।

हॉचकिस की टीम अब उन प्रतिरक्षा कोशिकाओं को बढ़ावा देने के तरीकों का परीक्षण कर रही है, जो दवाओं का उपयोग कर संक्रमण से लड़ने के लिए जरूरी हैं।

अभी, जब तक इसका कोई सफल उपचार नहीं मिल जाता तब तक के लिए, संक्रमण को रोकना ही सेप्सिस से बचने का सबसे अच्छा तरीका है।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

press freedom

जानिए स्वाधीनता संघर्ष में पत्र-पत्रिकाओं की भूमिका क्या है

आजादी की लड़ाई में मीडिया की भूमिका | आजादी की लड़ाई में पत्रकारिता का योगदान …

Leave a Reply