Home » Latest » बसपा नेता ने शेयर की परिवार संग दीपावली फोटो, बहुजनों को रास न आया, ये भी कोई बात हुई ?
Sudhindra Bhadoria Deepawali Photo

बसपा नेता ने शेयर की परिवार संग दीपावली फोटो, बहुजनों को रास न आया, ये भी कोई बात हुई ?

BSP leader shared Diwali photo with family, Bahujans did not like it, is this anything?

Sudhindra Bhadoria Deepawali Photo

नई दिल्ली, 15 नवंबर। सुधीन्द्र भदौरिया, बहुजन समाज पार्टी के बड़े नेता हैं, दिल्ली में बसपा के एकमात्र अधिकृत राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। उन्होंने दीपावली के अवसर पर अपने परिवार संग चित्र ट्विटर पर क्या शेयर कर दिया, कुछ बहुजन नाराज हो गए।

श्री भदौरिया चित्र शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा –

“अपने आवास पर पूरा परिवार शुभ दीपाववाली मनाते हुए।सभी के लिए दीपावली शुभ हो।“

इस पर जहां कई लोगों ने उन्हें भी दीपावली की शुभकामनाएं दीं, लेकिन कुछ बहुजन खासा नाराज हो गए।

“भीम आर्मी भारत एकता मिशन  प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश। आजाद समाज पार्टी (कांशीराम)Flag of El SalvadorFlag of El Salvador कार्यकर्ता। चंद्रशेखर भैया का दीवाना” का बायो वाले @Susheelajad1 ट्विटर हैंडल से उत्तर दिया गया –

“कांशीराम जी के मिशन की हत्या करने वाले बसपाई जो अभी वर्तमान में मनुवादियों से साठ गांठ किये है ना इन्हें तो हम आने वाले चुनाव में बताएंगे।”

@Vikas_Meshram72 ट्विटर हैंडल से Vikas Meshram ने लिखा,

“राजनीतिक दल कभी भी बाबासाहेब का सपना पुरा नही कर सकते। बाबासाहेब का सपना बौद्धमय भारत था। जातिविहिन भारत था। दिवाली मनाने से अपने साबित कर दिया कि आप हिंदू थे, हिंदू हैं, हिंदू ही रहेंगे। बाबासाहेब के सपने को तिलांजली देने के लिए आपका धन्यवाद।“

@Trilokchandjad5 हैंडल से Trilok chand(अम्बेडकरवाद समर्थक) से बसपा को हिंदुत्व अपनाने की नसीहत देते हुए उत्तर दिया गया –

“@Mayawati जी से भी कहिए कम से कम  दो चार फोटो दिवाली मनाते हुए और हिंदू देवी देवताओं की पूजा अर्चना करते हुए भी पोस्ट करें जब पार्टी को हिंदू ही वोट नहीं देंगे तो पार्टी का घंटा जनाधार बढेगा बसपा को बढाने के लिए हिंदुत्व को अपनाओ वर्ना 2022 में भी घंटा मिलेगा जिसे बजाते रहना”

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

congress manifesto committe

बिग ब्रेकिंग : दिल्ली में यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस मेनिफेस्टो कमेटी की बैठक

दिल्ली में यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस  मेनिफेस्टो कमेटी की बैठक. यूपी …

Leave a Reply