Home » Tag Archives: अच्छे दिन (page 5)

Tag Archives: अच्छे दिन

अच्छे दिन | Achhe Din in Hindi | acche din aane wale hain news Achhe din aane waale hain (अच्छे दिन आने वाले हैं). Achhe Din Kab Aayenge अच्छे दिन कब आएंगे, अच्छे दिन आने वाले हैं वीडियो, Achhe din aane waale hain was the Hindi slogan of the Bharatiya Janata Party for the 2014 Indian general election. The slogan was coined by the BJP’s Prime Ministerial candidate Narendra Modi, with the intention of conveying that a prosperous future was in store for India if the BJP came into power.

अच्छे दिन : पाँच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था से पाँच किलो अनाज तक

narendra modi flute

पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था (Five trillion dollar economy) का सपना देखने वाला देश अब पांच किलो अनाज पर आ कर टिक गया है। भारत के दिमाग़, उसके बाजार, तेज दौड़ती अर्थव्यवस्था और कॉर्पोरेट की दुनिया में चर्चा होती रही है। ऐसा क्या हुआ है कि देश दो जून की रोटी की ओर बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। प्रधानमंत्री …

Read More »

दुनिया की आधी से अधिक आबादी वायु गुणवत्ता पर किसी सरकारी डेटा से वंचित

IAN SCHULER CEO / Development Seed / Washington, DC USA

नासा द्वारा समर्थित शोध : ‘‘खुला हुआ डेटा स्‍वच्‍छ वायु हासिल करने की दिशा में एक छोटा सा कदम है।’’ वॉशिंग्‍टन डीसी, लंदन . वॉशिंग्‍टन डीसी स्थित अंतरराष्‍ट्रीय एनजीओ ओपन एक्‍यू (International NGO OpenAQ) द्वारा जारी एक रिपोर्ट में दुनिया भर में वायु की गुणवत्‍ता से जुड़ी जानकारी (Information on air quality around the world) की उपलब्‍धता में बड़े पैमाने …

Read More »

ज्योति बसु जैसे नेता कभी मरते नहीं हैं वे मरकर भी हमेशा हमें दिशाएं दिखाते हैं

Jyoti Basu

स्थितप्रज्ञ ज्योति बसु ज्योति बसु की 106वें जन्मदिन पर सरला माहेश्वरी का आलेख | Sarala Maheshwari’s article on Jyoti Basu’s 106th birthday जनता के जीवन के संवेदन -सत्यों के चित्रों से- तथ्यों के विश्लेषण-संश्लेषण-बिम्बों से- बनाकर धरित्री का मानचित्र दूर क्षितिज फलक पर टांग जो देता है वह जीवन का वैज्ञानिक यशस्वी कार्यकर्ता है मनस्वी क्रांतिकारी वह सहजता से दृढ़ता से …

Read More »

पत्रकारिता की गिरती साख और गरिमा को अगर कोई बचा सकता है तो वे हैं आंचलिक पत्रकार

Press Freedom

आंचलिक पत्रकार और पत्रकारिता की गिरती साख Declining credibility of journalism AND regional journalist आंचलिक पत्रकारों के बिना आप समाचार पत्र एवं न्यूज़ चैनलों की कल्पना नहीं कर सकते। अखबार एवं चैनल में 70 प्रतिशत आंचलिक पत्रकारों की बदौलत ही सुर्खियां बनती हैं। आंचलिक पत्रकार पत्रकारिता की रीढ़ होते हैं जिसके बिना कोई भी समाचार पत्र एवं न्यूज़ चैनल दो …

Read More »

आठ साल रुद्रपुर बदहाल | सड़क के गड्ढे राजनीतिक खाई न बन जाएं ठुकराल साहब!

The ground reality of the Terai villages

कोरोना काल में रोविंग रिपोर्टिंग चर्चित शायर इरतज़ा निशात ने एक शेर कहा था- ‘‘कुर्सी है तुम्हारा यह जनाजा तो नहीं है कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते?’’ रुद्रपुर क्षेत्र की जनता विधायक राज कुमार ठुकराल से यही सवाल कर रही है। आठ साल में शहर की एक भी मुख्य सड़क न बना पाने के बावजूद आप …

Read More »

ट्रम्प वैश्विक लोकतंत्र को डुबो रहे हैं – सर्वे

Donald Trump

Trump is sinking global democracy खतरे में लोकतंत्र | democracy in danger इस सप्ताह 18 और 19 जून को दुनियाभर में लोकतंत्र के भविष्य पर एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन (An international conference on the future of democracy worldwide) आयोजित किया जा रहा है. कोविड 19 के दौर में यह सम्मेलन विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये किया जाएगा, और इसे संबोधित करने वालों …

Read More »

मानसिक स्वास्थ्य का मुद्दा है सुशान्त सिंह राजपूत का जाना

Sushant Singh Rajput

Sushant Singh Rajput’s suicide is a mental health issue The issue of mental health due to coronavirus has also emerged rapidly in the country. कोरोना वायरस के कारण मानसिक स्वास्थ्य का मुद्दा भी तेजी से देश में उभरकर आया है. लॉकडाउन ने लोगों की आदतें तो जरूर बदल दी हैं लेकिन एक बड़ा तबका तनाव के बीच जिंदगी जी रहा …

Read More »

जिंदगी में रखना ध्यान रक्त की कमी से न जाये किसी व्यक्ति की जान

World Blood Donor Day in Hindi

विश्व रक्तदान दिवस 14 जून पर विशेष – World Blood Donor Day special on 14 June 14 जून के दिन को ‘विश्व रक्तदान दिवस’ के रूप में विश्व के बहुत सारे देशों में बड़े पैमाने पर स्वैच्छिक रक्तदान करके मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य है कि किसी भी व्यक्ति के जीवन को बचाने के लिए अगर …

Read More »

अच्छे दिन ! सब झूठे हैं, पैर के छाले सच्चे हैं

Migrants

सब झूठे हैं, पैर के छाले सच्चे हैं, जो दिन, तूने लाया भैया , वो दिन ,कितने अच्छे है । सब झूठे हैं……… तेरी तरक्की ने है , कितने जख्म दिये, रोज़ी रोटी नींद सकूं , सब दफ़न किये। झूठ फरेबी मुस्कानों के क़दम क़दम पर गच्चे हैं। सब झूठे…….. हम भी भारत जन हैं , लेकिन , सड़कों पर …

Read More »

जनप्रतिनिधित्व घृणा अभियान तक सीमित है, गांवों की जमीनी हकीकत – चार साल में जिन्दगी नर्क हो चुकी है

The ground reality of the Terai villages

जनप्रतिनिधित्व घृणा अभियान तक सीमित है। तराई के गांवों की जमीनी हकीकत (The ground reality of the Terai villages) पर रूपेश कुमार सिंह की रपट कोरोना काल में रोविंग रिर्पोटिंग (Roving Reporting in the Corona Period) – भाग एक आठ साल ! रूद्रपुर विधानसभा क्षेत्र बदहाल … कौन है जिम्मेदार ! कुछ तो बोलो ‘ठुकराल’ ??? लम्बी-चौड़ी कद-काठी, गठीला शरीर, गोरा …

Read More »

आत्मनिर्भर भारत में एलपीजी भी हुई आत्मनिर्भर, अच्छे दिनों में रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़े

economic news in hindi, Economic news in Hindi, Important financial and economic news in Hindi, बिजनेस समाचार, शेयर मार्केट की ताज़ा खबरें, Business news in Hindi, Biz News in Hindi, Economy News in Hindi, अर्थव्यवस्था समाचार, अर्थव्‍यवस्‍था न्यूज़, Economy News in Hindi, Business News, Latest Business Hindi Samachar, बिजनेस न्यूज़

आत्मनिर्भर भारत में महंगाई का झटका : रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़े Inflation shock in self-sufficient India: LPG cylinder prices rise नई दिल्ली, 1 जून 2020.  देशव्यापी लॉकडाउन को अनलॉक करने के पहले चरण (First steps to unlock nationwide lockdown 5) का आरंभ होते ही सोमवार को देश के आम लोगों को महंगाई का झटका लगा। पेट्रोलियम कंपनियों ने …

Read More »

प्रोबायोटिक्स क्या हैं और वे क्या करते हैं?

Health News

Topics discussed in this news in Hindi – What are probiotics and what do they do? What foods provide probiotics? What kinds of probiotic dietary supplements are available? What are some possible effects of probiotics on health? Can probiotics be harmful? What are probiotics and what do they do? | Fact Sheet on probiotics in Hindi प्रोबायोटिक्स जीवित सूक्ष्मजीव (जैसे …

Read More »

जिन्होंने इस देश की इमारत बनाई, जिनके खून और पसीने से देश चलता है, इनके प्रति मेरी, आपकी सबकी, और राष्ट्र की जिम्मेदारी है : प्रियंका गांधी

Priyanka Gandhi Vadra

प्रियंका गांधी का प्रवासी भाई-बहनों से वादा, सेवाभाव से करते रहेंगे मदद Priyanka Gandhi’s promise to migrants, will continue to help with service कांग्रेस ने अब तक 67 लाख लोगों की मदद की, रसोईघर चल रहीं हैं और हाइवे पर राहत कार्य जारी : प्रियंका गांधी सकारात्मक रूप से हमने मुख्यमंत्री जी को सुझाव दिये कि आपको ठीक लगे तो …

Read More »

सरकारी अश्लीलता पर बात कब होगी जनाब?

Namaste Trump

कोरोना काल में चिन्तन – अश्लील बनाम अश्लील Thinking in the Corona era : unseemly vs. unseemly औरैया के सड़क हादसे पर एक मित्र ने फेसबुक पर पोस्ट (Facebook post on Auraiya’s road accident) डाली जिस पर कमेण्ट करते हुए मैंने (हालांकि मैं कभी ऐसा नहीं करता हूँ या ये कहूँ कि उससे पहले तक कभी नहीं किया था) एक …

Read More »

आत्मनिर्भर भारत : क्या इस राष्ट्र में इन मजदूरों का भी स्थान है ?

opinion, debate

कोरोना महामारी के दौर में प्रधानमंत्री का ‘आत्मनिर्भरता’ का सपना Prime Minister’s dream of ‘self-reliance’ during the Corona epidemic प्रधानमंत्री ने 12 मई को देश को सम्बोधित करते हुए कहा कि- ‘‘हमने ऐसा संकट न देखा है न ही सुना है। निश्चित तौर पर मानव जाति के लिए ये सब कुछ अकल्पनीय है, ये क्राइसेस अभूतपूर्व है।.. लेकिन थकना, हारना, …

Read More »

स्टे होम में लोग स्टे सेफ नहीं हैं : सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों व आम जनता पर राजकीय दमन

freelance journalist Rupesh Kumar Singh

People are not stay safe in stay home: state repression on socio-political activists, journalists and general public जनपक्षधर स्वतंत्र पत्रकार रूपेश कुमार सिंह ने 12 मई 2020 को देश भर में हो रहे पत्रकारों, राजनीतिक-समाजिक कार्यकर्ताओं, छात्रों-नौजवानों, व आम जनता पर किये जा रहे राजकीय दमन पर छात्र संगठन ‘इन्कलाबी छात्र मोर्चा (इलाहाबाद)’ के फेसबुक पेज पर लाइव के जरिये …

Read More »

जानिए कांग्रेस के ऊपर हमला क्यों भारत के आधुनिक राष्ट्र राज्य की हौसियत पर हमला है

opinion, debate

बुनियादी मूल्यों की रक्षा से ही देश बचेगा Know why the attack on Congress is an attack on the hilarity of the modern nation state of India The country will survive only by protecting basic values 80 के अंतिम सालों में कांग्रेस के कमज़ोर होने के साथ ही राजनीति मुख्यतः दो ध्रुवीय होने लगी। धर्मनिरपेक्ष और साम्प्रदायिक। पहले खेमे में …

Read More »

मोदी ने 20 साल बाद 21 वीं सदी का पहले ग्लोबल झूठ Y2K को क्यों याद किया, बताया रवीश ने

Why did Modi remember Y2K, the first global lie of 21st century after 20 years, Ravish Kumar told

Why did Modi remember Y2K, the first global lie of 21st century after 20 years, Ravish Kumar told नई दिल्ली, 13 मई 2020. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल 12 मई को चौथा लॉकडाउन लागू किए जाने की घोषणा करते हुए राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में Y2K को याद किया। एनडीटीवी के चर्चित एंकर और मैग्सेसे पुरस्कार विजेता रवीश कुमार …

Read More »

कोरोना डायरी : किस्से में बदल जाओगे तुम ‘कोरोना’

Novel Cororna virus

Corona diary: ‘Corona’, you will turn into a story तुम सिर्फ लोगों की ही नहीं मार रहे हो, तुम देश की अर्थव्यवस्था से लेकर सामाजिक ताने-बाने को भी छिन्न-भिन्न कर रहे हो कोरोना। आने वाली पीढ़ी के लिए किस्सा बनकर दुनिया में जिन्दा रहोगे तुम ‘कोरोना।’ हमने नहीं देखा स्पैनिश फ्लू, प्लेग, चेचक, हैजा, मलेरिया जैसी विकराल महामारियों को, जिसने …

Read More »

कार्ल मार्क्स और हमारा समय

Karl Marx

कार्ल मार्क्स और हमारा समय | Karl Marx and our time मार्क्स ने बहुत ही रोमांटिक कल्पना प्रस्तुत की है कि जहाँ लोग अपने सर्वश्रेष्ठ तथा पूर्ण व्यक्तित्व का विकास करेंगे और जहाँ काम करना मजबूरी नहीं बल्कि हर व्यक्ति के लिए आनंद और गर्व की बात होगी  इंदौर, (मध्य प्रदेश) 8 मई, 2020. 5 मई साम्यवाद के विज्ञान को …

Read More »

सारा मलिक की कहानी – राशन कार्ड

Sara Malik, सारा मलिक, लेखिका स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं।

Story of Sarah Malik – Ration Card राशन कार्ड उर्मिला, अपना सामान बांध रही थी, उसे गांव जाना है, होली के 7 दिन बाद उसने कुछ दिन की छुट्टी ले रखी है. उर्मिला आसपास के घरों में काम करती है, और उसी कमाई से वह अपना घर चलाती है, और अपने तीन बच्चों के लिए एक अच्छे कल के सपने …

Read More »