Home » Tag Archives: अफ़ग़ानिस्तान

Tag Archives: अफ़ग़ानिस्तान

पाकिस्तान तालिबान सरकार को मान्यता क्यों नहीं देना चाहता?

taliban

What is Pakistan trying to prove by not recognizing the Taliban government? तालिबान के दो अधिकारियों ने रॉयटर्स को बताया (Two Taliban officials told Reuters) कि सीमा पर हुई एक घटना को लेकर तालिबान और पाक सेना ‘आमने-सामने’ (Taliban and Pak army ‘face to face’ over an incident on the border) हो गयी थीं और स्थिति ‘तनावपूर्ण’ थी। घटना के …

Read More »

139 मिलियन से अधिक लोग जलवायु संकट और कोविड-19 की चपेट में : नया विश्लेषण

climate change

More than 139 million people hit by climate crisis and COVID-19, new IFRC analysis reveals न्यूयॉर्क, जिनेवा, 18 सितंबर 2021: इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ (IFRC) की एक रिपोर्ट के अनुसार, चरम मौसम की घटनाओं और महामारी ने एक साथ लाखों लोगों को बुरी तरह प्रभावित किया है। उनका कहना है कि जलवायु और कोविड संकट …

Read More »

मोदी कंपनी को देखकर चर्चिल की बात याद आती है “भारत के नेता मीठी बातें करेंगे पर मन से गंदे होंगे।“

 अफ़ग़ानिस्तान का सबक : पुरातनपंथी जुझारूपन कहीं भी स्थिरता नहीं ला सकता सम्मति का अर्थ क्या होता है –अरुण माहेश्वरी अफ़ग़ानिस्तान में हामिद करजाई और अब्दुल्ला अब्दुल्ला जैसे नेताओं से पहले वार्ता और उसके बाद उन्हें नज़रबंद करने का वाक़या यह सवाल उठाता है कि उस देश में किसी सर्वसमावेशी सरकार का गठन कैसे संभव होगा जहां किसी भी सभा …

Read More »

सीआईए-पेंटागन की देन है तालिबान की सत्ता में वापसी

taliban

Taliban’s return to power is due to CIA-Pentagon अफ़ग़ानिस्तान में अराजकता (chaos in afghanistan) फैली है। वहां कोई सरकार नहीं है, जो सरकार थी वह भाग गई। सेना ने समर्पण कर दिया। तालिबान ने 31 प्रांतों पर क़ब्ज़ा कर लिया है। काबुल पर भी उनका कब्जा है लेकिन वहाँ राष्ट्रीय या क्षेत्रीय प्रशासन जैसा नियमन करने वाला ढाँचा और व्यवस्था …

Read More »

अफगानिस्तान मीडिया कवरेज और अमेरिकी प्रोपेगेंडा

Afghanistan Media Coverage and American Propaganda मीडिया में अफ़ग़ानिस्तान, आतंकवाद और तालिबान (Afghanistan, terrorism and the Taliban in the media) के संदर्भ में बीस साल पुराने मीडिया कवरेज की पुनर्वापसी हो गई है। इस तरह के कवरेज के दो लक्ष्य हैं, पहला लक्ष्य है जनता की राय को युद्धोन्माद के इर्द-गिर्द गोलबंद करना। मुसलमानों के ख़िलाफ़ नफ़रत के आधार पर …

Read More »