Home » Tag Archives: अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता

Tag Archives: अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता

विरोध कुचलने का हथियार बनती रही है देशद्रोह की धारा 124A

Law and Justice

Section 124A of sedition is becoming a weapon to suppress the protest / Vijay Shankar Singh एक अच्छी खबर यह है कि वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ पर दर्ज सेडिशन का मुकदमा सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया है। यह सरकार हर उस व्यक्ति के पीछे पड़ी है जो उससे सवाल पूछता है, उसकी कैफियत और हैसियत पर सवाल उठाता है …

Read More »

लोकतंत्र के लिए गंभीर खतरा है देश में असहमति के प्रति बढ़ती असहनशीलता

एल. एस. हरदेनिया। लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं।

Growing intolerance towards disagreement in the country is a serious threat to democracy न सिर्फ देश का सर्वोच्च न्यायालय, अनेक उच्च न्यायालय, अनेक समाचार पत्र, संविधान एवं न्यायिक क्षेत्र के  अनेक विशेषज्ञ, और यहां तक कि दुनिया के विभिन्न देशों की मानवाधिकार और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता (Freedom of expression) के प्रति प्रतिबद्ध संस्थाएं यह मानती हैं कि भारत में बोलने …

Read More »

आमिर खान पर संघी हमला तर्कहीनता की सीमा लांघ रहा है

Sanghi attack on Aamir Khan is crossing the threshold of irrationality

Sanghi attack on Aamir Khan is crossing the threshold of irrationality यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता (Freedom of expression) का युग है और यह अधिकार होना भी चाहिए। किंतु अभिव्यक्ति की आज़ादी का मतलब (Freedom of expression means) कल्पनाओं को सच बताने या झूठ बोलने की आज़ादी नहीं होता। इस आज़ादी में यह निहित है कि विचार को विचार की तरह …

Read More »

नरेन्द्र मोदी 70 साल में दुनिया के सबसे बड़े असफल पीएम

narendra modi flute

Narendra Modi is world’s biggest failed PM in 70 years इस वक्त दुनिया में रोज 2 लाख से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। इनमें से 20% मरीज भारत में मिल रहे हैं। इस वक्त दुनिया के एक चौथाई मरीज सिर्फ अमेरिका में हैं। अमेरिका और ब्राजील में हर रोज आने वाले मामले स्थिर हो चुके हैं। लेकिन, भारत में इनकी …

Read More »

राजनीतिक कैंसर है अवसरवाद : लेनिन की पुण्यतिथि पर विशेष

special on Lenins death anniversary

Opportunism is political cancer : special on Lenin’s death anniversary लेनिन का पाठ बार-बार अनेक मामलों में बुर्जुआ नजरिए के प्रति वैकल्पिक दृष्टि देने का काम करता है। सोवियत संघ में एक जमाने में आलोचना की स्वतंत्रता को लेकर बहस (Debate over the freedom of criticism in the Soviet Union) चली है। बुर्जुआ लोकतांत्रिक नजरिए वाले लोगों के लिए आलोचना …

Read More »