Home » Tag Archives: असम

Tag Archives: असम

त्रिपुरा भी धार्मिक कट्टरता की चपेट में

deshbandhu editorial

Tripura also in the grip of religious bigotry देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में कुछ दिनों पहले तक सांप्रदायिक हिंसा और तनाव की खबरें (Reports of communal violence and tension in Tripura) फिक्र बढ़ा रही थीं। अब खबर आई है कि 25 नवंबर को नगरीय निकाय के लिए होने वाले चुनाव से पहले …

Read More »

चुनाव में हार का डर लगा तो पब्लिक याद आयी! बड़े-बड़ों की अकड़ ढीली कर देता है चुनाव में हार का डर

Narendra Modi flute

When there was a fear of defeat in the election, then the public remembered! उपचुनाव के ताजा चक्र के नतीजों ने मोदी-शाह की भाजपा की ‘कड़े फैसले’ लेने की तानाशाहीपूर्ण ठसक निकाल दी है। जाहिर है कि ये ‘कड़े फैसले’ आम जनता के लिए ही ‘कड़े’ साबित होने वाले फैसले रहे हैं और ऐसे फैसले लेने की अकड़ के पीछे, …

Read More »

उपचुनाव : भाजपा का दरकता किला

deshbandhu editorial

उपचुनाव में भाजपा का अपराजेय होने का भरम टूट गया देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today भाजपा को अब तक ये गुमान है कि वो अपराजेय है। भाजपा के लिए किसी भी चुनाव में जीत दर्ज करना बाएं हाथ का खेल है। लेकिन मंगलवार को भाजपा का ये भरम टूट गया। 30 अक्टूबर को देश की तीन …

Read More »

असम मिजोरम की पुलिस के बीच गोलीकांड भारत की एकता व अखंडता के लिए ठीक नहीं

असम मिजोरम पुलिस के बीच फायरिंग भारत की एकता और अखंडता के लिए अच्छी नहीं: राजनीतिक विश्लेषक और टीवी पैनलिस्ट दुष्यंत नागर की बात Firing between Assam Mizoram police is not good for the unity and integrity of India: Talk of political analyst & TV panelist Dushyant Nagar असम मिजोरम पुलिस के बीच फायरिंग भारत की एकता और अखंडता के …

Read More »

क्या भारत में जनसंख्या विस्फोट है ? क्या कहते हैं आंकड़े और विशेषज्ञ

  Is there really a population explosion in India? What do statistics and experts say? –         जागृति चंद्र हाल के दिनों में, उत्तर प्रदेश और असम जैसे राज्यों और लक्षद्वीप जैसे केंद्र शासित प्रदेशों ने सरकारी नौकरी पाने या पंचायत चुनावों के लिए नामांकित या निर्वाचित होने के लिए पूर्व शर्त के रूप में दो बच्चों के मानदंड को लागू …

Read More »

कांग्रेस का कद चुनावी राजनीति से कहीं बड़ा है, यही कांग्रेस की असली पहचान भी है

Congress Logo

The stature of the Congress is much bigger than electoral politics, this is also the true identity of the Congress. पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी की जनता ने अगले पांच साल के लिए अपना जनमत दे दिया है। हम इन चुनाव परिणामों को पूरी विनम्रता और ज्म्मिदारी से स्वीकार करते हैं।’ राजनीति में तीखे शब्दों और निजी प्रहारों …

Read More »

सीपेजी ने जारी की चुनावों पर काम कर रहे पत्रकारों के लिए पत्रकार सुरक्षा गाईड

Press Freedom

CPJ released Journalist Safety Guide for Journalists working on elections CPJ की ओर से भारतीय राज्यों के चुनावों पर काम कर रहे पत्रकारों के लिए सुरक्षा गाईड पत्रकार सुरक्षा गाईड कई भाषाओं में उपलब्ध है न्यूयॉर्क, 08 मार्च, 2021- असम, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और पुदुच्चेरी में होने जा रहे राज्यसभा चुनावों और उनसे पहले होने वाली गतिविधियों पर काम …

Read More »

पीठ पर टोकरी लाद प्रियंका गांधी ने चाय बगान में तोड़ी पत्तियां; देखें- VIDEO

पीठ पर टोकरी लाद चाय बगान में तोड़ी पत्तियां

असम विधानसभा चुनाव 2021 | Assam Assembly Election 2021 चुनाव के लिए असम में जी जान लगा रहीं प्रियंका, बिश्वनाथ जिले में प्रियंका गांधी वाड्रा का हुआ स्वागत चाय बागान के कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी वाड्रा का किया स्वागत प्रियंका गांधी वाड्रा की बिश्वनाथ जिले में सद्गुरु चाय बागान में चाय बागान श्रमिकों के साथ की बातचीत.

Read More »

सर्दियों में प्रवासी पक्षियों का घर है भारत

Know Your Nature

India is home to migratory birds in winter | Birds of India | Bird World |Migratory birds in India भारत साइबेरियाई पक्षियों जैसे साइबेरियन क्रेन, ग्रेटर फ्लेमिंगो और डेमॉस्सेल क्रेन के लिए सर्दियों का घर (Winter house for siberian birds in india) है, जो दुनिया के अन्य क्षेत्रों के पक्षियों की कई प्रजातियां हैं … ये सुंदर प्रवासी पक्षी (Pravasi …

Read More »

बाढ़ में फिर डूब गया है असम… हम अपने कमरों में बैठकर दार्जिलिंग चाय पी रहे हैं …

नित्यानन्द गायेन Nityanand Gayen

बाढ़ में फिर डूब गया है असम… मेरे दोस्त अब भी कहते हैं – यहां से बहुत दूर है भारत ! नॉर्थ -ईस्ट ———   हम कितना जानते हैं और कितने जुड़े हुए हैं पूर्वोत्तर के लोगों से , उनके दर्द, तकलीफ़ जीवन-संघर्ष से और कितना जानते हैं उनकी ज़रूरतों के बारे ?   यह सवाल आज अचानक नहीं उठा …

Read More »