Home » Tag Archives: आँखें

Tag Archives: आँखें

ये आँखें हैं ..कि सुनती ही नहीं मेरी कोई बात ….

Father and Daughter

…क़सम से …. यूँ तो सोच लिया था … मैंने … मैं …आज तुम्हें … नहीं सोचूँगी … इन बीते दिनों में … तुम्हारे हर ज़िक्र से .. घबरा कर आँख चुराई मैंने … हाँ ख़ूब बचाया ख़ुद को … नहीं गुज़री … तेरी याद की दहलीज़ तलक से …. तुम्हारा रूआब … तुम्हारी सख़्तियाँ … वो तमाम बातें बचपन …

Read More »