Home » Tag Archives: आंदोलनजीवी

Tag Archives: आंदोलनजीवी

हरि अनंत, हरि कथा अनंता। साहेब की कथाओं का भी कोई अंत नहीं, बुरा न मानो…

Today's Deshbandhu editorial

देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today आंदोलनजीवी नहीं, साहेब आंदोलनफली हैं कैसा अद्भुत संयोग है। फाल्गुन मास की पूर्णिमा (Full moon of phalgun month) के शुभ अवसर पर ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) का अमृत महोत्सव हुआ है। साहेब कहते हैं ऐसा लगता है मानो कल की बात हो। अब उन्हें क्या पता कि ये कल …

Read More »

किसान आंदोलन में बढ़ता आक्रोश : सम्राट जनता का नहीं WTO, टाटा, अम्बानी, अडानी का चौकीदार है

Farmers launch T-shirt in support of the movement on the border "Zinda hai to Delhi Aaja, join the struggles"

Growing anger in peasant movement: King is not Chowkidar of public but WTO, Tata, Ambani and Adani देश के किसान पिछले चार महीने से जनविरोधी तीन कृषि कानूनों को रद्द करवाने के लिए बड़े ही व्यवस्थित व अनुशासनिक तरीके से दिल्ली की सरहदों पर बैठे हैं। किसान ईमानदारी से तीन कानूनों को रद्द करवाने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन …

Read More »

आंदोलनजीवी मोदीजी और इतिहास में दुष्प्रचार व झूठ का तड़का

Narendra Modi Addressing the nation from the Red Fort

Andolanjivi Modiji & Propagation of propaganda and lies in history इतिहास के साथ दुष्प्रचार और गलतबयानी एक आम बात रही है। सत्तारूढ़ शासक अक्सर अपने विकृत और विद्रूप अतीत को छुपाना चाहते है और अपने बेहतर चेहरे को जनता के सामने लाना चाहते है। इतिहास में वे बेहतर शासक और व्यक्ति के रूप मे याद किये जाएं, यह सबकी दिली …

Read More »

स्वामी सहजानंद सरस्वती इतिहास के सबसे बड़े किसान नेता

dipankar bhattacharya

Sahajanand Saraswati is the biggest farmer leader in history सहजानंद सरस्वती की जयंती पर बिहटा में विशाल किसान महापंचायत दीपंकर ने कहा – हम सहजानंद सरस्वती की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं विशद कुमार आजादी की लड़ाई के दौरान जमींदारी प्रथा के खिलाफ किसानों को संगठित करने वाले महान किसान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती की जयंती (Swami Sahajanand Saraswati’s …

Read More »

प्रधानमंत्री आवास योजना में चल रही है लूट की आंधी

Cpiml Bihar

प्रधानमंत्री आवास योजना में चल रही है लूट जहां झुग्गी-वहीं मकान के आधार पर दलित-गरीबों के लिये आवास नीति बने –  धीरेन्द्र झा पटना से विशद कुमार। पटना में आज 28 फरवरी को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए खेग्रामस के महासचिव कॉ. धीरेन्द्र झा ने कहा कि अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मज़दूर सभा (खेग्रामस) और मनरेगा मज़दूर …

Read More »

अपने ही बुने जाल में खुद फंसते जा रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी ! बड़ी चुनौती बने राकेश टिकैत

Narendra Modi flute

Prime Minister Modi is getting caught in his own woven web! Rakesh Tikait became a big challenge किसान नेताओं ने प्रधानमंत्री के आंदोलनकारियों को आंदोलनजीवी और परजीवी कहने को किसान आंदोलन से जोड़ा है। देश में बड़े किसान नेता के रूप में उभरे भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने इसे अपनी प्रतिष्ठा से जोड़ लिया है। अब वह अक्टूबर तक किसान …

Read More »

आंदोलनजीविता : आंदोलन का प्रजातंत्र

Farmers Protest

समाज में आंदोलन का महत्व | Importance of movement in society आंदोलन समाज में सुधार के लिए प्रेरित करते हैं या नीतिगत निर्णयों के प्रति एक सशक्त असहमति व्यक्त करते हैं। मूल रूप से लोकतंत्र में आंदोलन का उद्गम इन्हीं कारणों पर आधारित होता है। समाज में हमेशा से आंदोलन होते रहे हैं। अगर हम इतिहास में देखें तो 7वीं …

Read More »

भारत के नागरिकों को आंदोलनजीवी होने पर गर्व है : दीपंकर भट्टाचार्य

Dipankar Bhattacharya

Citizens of India are proud to be a Andolanjivi: Dipankar Bhattacharya जनसंहार की ओर ले जाने वाली भड़काऊ भाषा है यह विशद कुमार भाकपा-माले महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य (Dipankar Bhattacharya) ने कहा है कि मोदी राज के छ: साल नागरिक स्‍वतंत्रता, भारत के संविधान और लोकतंत्र पर अनवरत हमले के साल रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने 8 फरवरी को संसद में …

Read More »

संयुक्त किसान मोर्चा का पलटवार, कहा मोदी ने किया किसानों का अपमान, हमें आंदोलनजीवी होने पर गर्व

Ghazipur border: farmers will plant flowers near police forts.

United Kisan Morcha counterattack, said Modi insulted the farmers, we are proud to be agitators नई दिल्ली, 09 फरवरी 2021. ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ (SKM) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्यसभा में दिए गए भाषण को किसानों का अपमान बताते हुए इसकी निंदा की है। ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ ने कहा कि किसान प्रधानमंत्री को याद दिलाना चाहेंगे कि वे आन्दोलनजीवी ही …

Read More »