Home » Tag Archives: आजादी की लड़ाई

Tag Archives: आजादी की लड़ाई

यह गांधी के रामराज्य की नहीं, शंबूक वध और सीता वनवास वाले रामराज्य की तैयारी है

PM Modi Speech On Coronavirus

वंचितों को बाहर कैसे करते हैं? मोदी राज के छ: साल में आंकड़ों की विश्वसनीयता का जैसा ध्वंस हुआ है, उसकी तुलना आजादी की लड़ाई में से निकले, शासन के धर्मनिरपेक्ष, जनतांत्रिक स्वरूप के ध्वंस से ही की जा सकती है। फिर भी आंकड़ों की विश्वसनीयता (Data reliability) के इन प्रश्नों को अगर उठाकर भी रख दिया जाए तब भी, …

Read More »

सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-जहाँ हमारा।।

opinion

“सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा/ कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी।… सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-जहाँ हमारा।। There is an undeclared emergency situation in the country. देश गंभीर परिस्थितियों से गुजर रहा है। देश के हालात पर कुछ लिखना, कहना और विमर्श करना भी कठिन होता जा रहा है। एक अघोषित आपात काल जैसी स्थिति है। जो राष्ट्रीय चिंतन …

Read More »

मोदी का ‘नया भारत’, हमारी संवैधानिक व्यवस्था के अस्तित्व के लिए ही खतरा पैदा कर रहा है

Sitaram Yechury

नये भारत का आख्यान या संविधान का ध्वंस Narrative of new india or the destruction of constitution मोदी के न्यू इंडिया पर सीताराम येचुरी का आलेख Sitaram Yechury‘s article on Modi’s New India, आज जबकि हम अपने 73वें स्वतंत्रता दिवस के करीब पहुंच रहे हैं, भारत के भविष्य को सौंपने के लिए, एक नया राष्ट्रीय आख्यान ही गढ़ा जा रहा …

Read More »

जलियांवाला बाग़ @101 : इतिहास का टर्निंग पॉइंट; जिसने भारत की दशा और दिशा दोनों बदल कर रख दी

Jallianwala Bagh

Jallianwala Bagh @ 101: The Turning Point of History; Which changed both the condition and direction of India Jallianwala Bagh History in Hindi इतिहास के साथ एक सुविधा है, इसे आराम से देखा जा सकता है। दुविधा यह है कि दीवार पर लटकी तस्वीरों को बदलकर इसे बदला नहीं जा सकता। इतिहास हमेशा मैक्रो रूप में होता है एक सूर्य …

Read More »

आजादी से पहले देश अनपढ़ जरूर था, लेकिन धर्मांध हरगिज़ नहीं

News and views on CAB

India is still a country of villages. Those who led the freedom struggle were understood by this very rule. बदलाव का सपना देखने वाले लोग न जाने क्यों भूल जाते हैं कि भारत अब भी गांवों का देश है। आजादी की लड़ाई का नेतृत्व करने वालों ने इस बहुत कायदे से समझा था। ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ ग्रामीण भारत में …

Read More »