भीलों-आदिवासियों के गांधी थे मामा बालेश्वरदयाल

Mama Baleshwar Dayal

आजाद भारत में शायद ही ऐसा कोई राज नेता हो जिसकी पुण्यतिथि पर हजारों आदिवासी जुटे हों और उन्हें भगवान की तरह पूजते हों। मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात के आदिवासी अंचल से हजारों की संख्या में 25 दिसम्बर से 27 दिसम्बर तक हर वर्ष जुटते हैं। हजारों आदिवासी मामा जी के आश्रम बामनिया (Mama