Home » Tag Archives: आपदा में अवसर

Tag Archives: आपदा में अवसर

महामारी में गंगास्नान : मोदीजी के आत्मनिर्भर भारत में अपनी फिक्र खुद करें, क्योंकि सरकार आपदा में अवसर ढूंढने में व्यस्त है

Today's Deshbandhu editorial

(देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today) पूरी दुनिया पिछले एक साल से भी अधिक वक्त से कोरोना के खौफ में जी रही है। भारत दुनिया के सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देशों में से एक है और इसकी दूसरी लहर तो देश पर बहुत भारी पड़ती दिख रही है। अब देश में रोजाना एक-डेढ़ लाख मामले सामने आ रहे हैं। अस्पतालों …

Read More »

कोरोना के साये में जनता की घटती आय और संकुचित होती अर्थव्यवस्था

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Credit NIAID NIH

Declining public income and shrinking economy under the shadow of Corona 1991 में जब ग्लोबलाइजेशन और मुक्त बाजार का दौर शुरू हुआ (The era of globalization and free market started in 1991.) तो देश में अचानक समृद्धि आने लगी। परंपरागत नौकरियां जो अमूमन सरकारी नौकरी ही थी, के स्थान पर निजी क्षेत्र में नौकरियों के नए और बहुत से अवसर …

Read More »

रोग-बीमारी-त्रासदी पर बंद हो मुनाफाखोरी और आपदा में अवसर, जीवन रक्षक दवाओं पर अनिवार्य-लाइसेंस की मांग

Coronavirus Outbreak LIVE Updates, coronavirus in india, Coronavirus updates,Coronavirus India updates,Coronavirus Outbreak LIVE Updates, भारत में कोरोनावायरस, कोरोना वायरस अपडेट, कोरोना वायरस भारत अपडेट, कोरोना, वायरस वायरस प्रकोप LIVE अपडेट,

जीवन रक्षक दवाओं पर अनिवार्य-लाइसेंस की मांग जिससे कि जेनेरिक उत्पादन हो सके Experts demand compulsory licensing for generic production of a drug against Covid-19 ज़रा सोचे कि जीवन रक्षक दवा हर ज़रूरतमंद इंसान को मिलनी चाहिए कि नहीं? यदि दवा कंपनी के पास पेटेंट हो और कीमत इंसान की पहुँच के बाहर हो तब भी वैश्विक व्यापार संधि में …

Read More »

किसान आंदोलन : ‘आपदा में अवसर’ तलाशते ‘सर्वाधिक संभावनाओं से भरे’ सत्यपाल मलिक

satyapal malik

सत्यपाल मलिक किसान आंदोलन द्वारा ‘आपदा में अवसर’ खोजना’ चाहते हैं… सत्यपाल मलिक का राजनीतिक सफर | Satyapal Malik’s political journey मूलरूप से समाजवादी वैचारिक पृष्ठभूमि से आए सत्यपाल मलिक ने पश्चिमी उतर प्रदेश से अपना राजनीतिक सफर शुरु किया था। 1946 में बागपत के हिस्वाडा गांव में गरीब किसान परिवार में जन्मे सत्यपाल मलिक ने मेरठ विश्वविद्यालय से कानून …

Read More »

किसान आंदोलन की क्रोनोलॉजी समझिए : समाधान राजनीतिक दृष्टि से ही सम्भव है न कि पुलिस के बल प्रयोग से

Modi government is Adani, Ambani's servant. Farmers and workers will uproot it - Randhir Singh Suman

The solution to the peasant movement is possible only from the political point of view and not by using police force: Vijay Shankar Singh किसान आंदोलन (Farmers protest) अब एक नए चरण में आ गया है। लाल किला की घटना के बाद, इस आंदोलन के नेताओं को अब अपनी रणनीति पर नए सिरे से विचार करना होगा। राजनीतिक दलों को …

Read More »

पुराना साल खत्म, नया साल शुरू हो गया, किसानों का समर अभी शेष है

Farmers Protest

The old year is over, the new year has started, the struggle of the farmers is yet to go / Vijay Shankar Singh पुराना साल खत्म, नया साल शुरू हो गया है, परन्तु किसान आंदोलन जारी है। लोग समझना चाहते हैं कि सरकार तीनों कानून वापिस लेना क्यों नहीं चाहती और नया साल किस तरह से शुरूआत से ही नए …

Read More »

पूछता है भारत – रिया को जमानत मिलने की खबर पिछले पृष्ठों पर कम जगह में क्यों छपी ?

TRP ke liye murgon ki ladai

रिया चक्रवर्ती को जमानत के बड़े परिप्रेक्ष्य | Big meaning of bail to Rhea Chakraborty कुछ टीवी चैनलों, और लगभग भोंकने काटने के अन्दाज में चिल्लाने वाले टीवी एंकरों ने सुशांत सिंह की दुखद मृत्यु (Tragic death of Sushant Singh) को जानबूझ कर सनसनीखेज बनाया था। यह कहना सही नहीं होगा कि रिया चक्रवर्ती को मिली जमानत (Rhea Chakraborty gets …

Read More »

किसी की आपदा, किसी का अवसर! मेहनत-मजदूरी करने वालों की आपदा को कार्पोरेटों के लिए अवसर बनाने की धोखाधड़ी नहीं चलेगी

महामारी के बीचो-बीच और वास्तव में देशव्यापी लॉकडाउन के बीच (Amidst nationwide lockdown), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब ‘आपदा को अवसर’ बनाने का आह्वान किया था, उस समय तो उनके कटु आलोचकों ने भी नहीं सोचा होगा कि वह सचमुच, कोविड-19 महामारी की आपदा को, कार्पोरेटों की सेवा के अपने असली एजेंडा को पहले से भी तेजी से आगे बढ़ाने …

Read More »

सपा एमएलसी सुनील सिंह साजन का मंत्री चेतन चौहान की मौत पर बड़ा आरोप, पूरा सुनिए | पैरों से जमीन सरक जाएगी

SP MLC Sunil Singh Sajan's allegations on Minister Chetan Chauhan's death

सपा एमएलसी सुनील सिंह साजन का मंत्री चेतन चौहान की मौत पर बड़ा आरोप, पूरा सुनिए SP MLC Sunil Singh Sajan’s allegations on Minister Chetan Chauhan’s death कोरोना महामारी पे पूरी तरह से फेल भ्रष्ट योगी सरकार को सपा एमएलसी सुनील सिंह साजन ने सदन में आईना दिखाया। उन्होंने कहा कि इस महामारी में जनता को खून के आँसू रुलाने …

Read More »

यूपी : कोविड-19 क्या विकराल रूप लेता जा रहा है, आपदा को अवसर में बदलते प्राइवेट हॉस्पिटल

Corona virus COVID19, Corona virus COVID19 image

लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी। कोविड-19 कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे मामले (Covid-19 Corona Virus Cases Increasingly) जहाँ चिंता का सबब है, वहीं ग़ैर सरकारी हॉस्पिटलों में आपदा को अवसर में बदलने का खेल खेला जा रहा है। सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी के मुताबिक़ ग़ैर सरकारी हॉस्पिटल अपना खर्च निकालने के नाम पर कोरोना वायरस जैसी महामारी …

Read More »

आपदा को मुनाफ़े में बदल कर कमा रही है ग़रीब विरोधी सरकार : राहुल

Rahul Gandhi at Bharat Bachao Rally

नई दिल्ली, 25 जुलाई 2020. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लॉकडाउन में श्रमिक ट्रेनों द्वारा 428 करोड़ रुपये कमाई करने वाली एक रिपोर्ट (A report of Rs 428 crore earned by labor trains in lockdown) का हवाला देते हुए केंद्र की मोदी सरकार और रेल मंत्रालय पर निशाना साधा है. बता दें 24 मार्च से अविवेकपूर्ण तरीके से …

Read More »

कॉरपोरेट लूट की बलिवेदी पर अब भारतीय रेलवे की बलि की तैयारी : आपदा में अवसर निकालकर सब बेच देंगे मोदीजी !

narendra modi flute

भारतीय रेलवे (Indian Railway) जिसे ‘आम भरतीय जनमानस का जीवन रेखा’ कहा जाता रहा है, लेकिन अब इसके जीवन की बागडोर कॉरपोरेट के हाथों होंगी। अब भारतीय रेलवे की धड़कनें पूँजीवादी शोषकों के इशारों पर निर्देशित होगी। ऐसा नहीं कि अचानक से भरतीय रेलवे की धड़़कनें कॉरपोरेट द्वारा निर्देशित होने की योजना हमारे सामने आ गई है। दरअसल इसकी शुरुआत …

Read More »

अब सीमा तनाव को चुनावी अवसर में बदलने का खेल : क्षुद्र चुनावी लाभ के लिए, भारतीय सेना को ‘बिहारी सेना’ बनाने का खेल,

Prime Minister, Shri Narendra Modi paying tributes to the Martyrs during the Virtual Conference with the Chief Ministers, in New Delhi on June 17, 2020.

चुनौती को अपने लिए राजनीतिक फायदे के अवसर में और खासतौर पर चुनावी फायदे अवसर में बदलने की कला के बहुत बड़े उस्ताद हैं- नरेंद्र मोदी। वह न तो इसका कोई भी मौका चूकते हैं और न ऐसे मौके का फायदा उठाने में किसी संकोच या झिझक को आड़े आने देते हैं। उल्टे दीदादिलेरी तो उनकी इस कला का एक …

Read More »

आपदा का व्यवसायीकरण : व्यावसायिक खनन वरदान नहीं श्राप है

Coal

आदिवासियों की भूमि पर कोयला खदानों के निजीकरण के संदर्भ में आपदा के व्यवसायीकरण के क्या परिणाम होंगे (What will be the consequences of commercialization of disaster) इसका उदाहरण इस आशय में मिल जाएगा है कि एक आदिवासी समुदाय अपने पड़ोस में खनन शुरू होने से पहले कैसा था और समय के साथ इसे क्या नुकसान हुआ। दूबिल, झारखंड के …

Read More »

मोदी सरकार ने निकाला पर्यावरण नष्ट करने का आपदा में अवसर

climate change

क्या यह वास्तव में भारत में ‘प्रकृति के लिए समय‘ है? | Is it really ‘Time for Nature’ in India? While India Focused On COVID-19, Here’s What Govt Did To The Environment पूरा विश्व आज विश्व पर्यावरण दिवस मना रहा है। ‘समय के लिए प्रकृति’ (‘Time for Nature’) इस वर्ष के विश्व पर्यावरण दिवस के लिए चयनित थीम है, लेकिन भारत …

Read More »

आपदा में अवसर : यह आपदा प्राकृतिक नहीं, शुद्ध मानव निर्मित है

How many countries will settle in one country

Opportunities in disaster: This disaster is not natural but pure man-made आपदा में अवसर ! मेधाएँ काम पर लगी हैं। वे जल्दी ही इस महानिकाले को महाभिनिष्क्रमण बना देंगी। वे मजदूरों के इस अभूतपूर्व हांके को त्याग, तपस्या और घर वापसी की रूमानी कहानियों में बदल देंगी। वे भुला देंगी कि लोगों को धक्का दिया गया। उनकी रोजी, रोटी और …

Read More »