सारा मलिक की कहानी “पहला रोजा”

Sara Malik, सारा मलिक, लेखिका स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं।

Sara Malik’s story “Pehla Roja” इबादत करना फर्ज है, और हक भी। रमजान का महीना (Month of ramadan) रोजा और इबादत का महीना, बरकतों वाला महीना है। अल्लाह खैर करे इस साल हालात मुख्तलिफ हैं। दुनिया में वबा फैली है। मुल्क भी उसी की चपेट में है। ऐसे में हुकूमत ने एहतियात के तौर पर