Home » Tag Archives: उदारीकरण

Tag Archives: उदारीकरण

बजट 2022-23: आंकड़ेबाजी से देश को गुमराह करना, देश बेचना ही इनकी सबसे बड़ी उपलब्धि

nirmala sitharaman

Selling the country is their biggest achievement. केंद्रीय बजट 2022-23 पर प्रतिक्रिया | Feedback on Union Budget 2022-23 वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala sitharaman) ने जो आर्थिक सर्वेक्षण (economic survey) पेश किया, वह आंकड़ेबाजी से देश को गुमराह करने वाला है। महामारी की राजनीति से देश की अर्थव्यवस्था को जो भारी नुकसान हुआ है, उत्पादन प्रणाली जिस तरह ध्वस्त हो गयी …

Read More »

भारतीय साहित्य में जातीय सांस्कृतिक चेतना

literature and culture

भारतीयता की अवधारणा पर विचार करना जरूरी है… INDIAN LITERARY TRADITION AND INDIAN ETHOS भारतीयता के मूल स्वर को अभिव्यक्त करने वाला साहित्य ही भारतीय साहित्य (Indian Literature) हो सकता है चाहे उसकी रचना देश की चौहद्दी के भीतर हुई हो चाहे बाहर, और चाहे वह किसी भी देश-विदेशी भाषा में लिपिबद्ध हुई हो। भारतीय साहित्य किसे कहा जा सकता …

Read More »

देश चार लोगों; अम्बानी अडानी और मोदी शाह का राज बर्दाश्त नहीं करेगा- डॉ अशोक ढवले

 हाल के दौर में जमकर लड़ी है देश की जनता, इन संघर्षों को आगे बढ़ाना ही होगा शैली स्मृति व्याख्यान में “हाल के दौर के जन आंदोलन और उनकी विशेषताएं” पर बोले डॉ अशोक ढवले भोपाल, 01 अगस्त 2021. “आदरांजलि देने का काम सिर्फ शब्दों से नहीं किया जाता। सच्ची आदरांजलि उस रास्ते पर चलकर दी जाती है जिसे दिखाकर …

Read More »

कॉर्पोरेटी हिंदुत्व लोकतांत्रिक भारत की हत्या कर रहा है

लोकतंत्र को लाठीतंत्र में बदला जा रहा है Corporate Hindutva is killing democratic India शैली स्मृति व्याख्यान में बोले संजय पराते Democracy is being turned into lathi-tantra भोपाल, 31 जुलाई 2021.“कार्पोरेटी हिंदुत्व लोकतांत्रिक भारत की हत्या कर रहा है। संवैधानिक मूल्यों को ध्वस्त किया जा रहा है। असहमति रखने वाले व्यक्तियों, संगठनों को फासीवादी औजारों से खामोश किया जा रहा …

Read More »

ताकि भारत पाखंडी-राष्ट्र न बने!… उदारीकरण-निजीकरण देश के शासक-वर्ग का साझा एजेंडा है

Bharat Bandh against anti-farmer law Hundreds of Congress leaders arrested in UP

Liberalization-privatization is the common agenda of the ruling class of the country तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसान आंदोलन (Farmer movement in protest against three new agricultural laws) के शुरू से ही केंद्र की भाजपानीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार और विपक्षी पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोपों का सिलसिला चल रहा है. किसान संगठनों द्वारा 8 दिसंबर को …

Read More »