Home » Tag Archives: कार्ल मार्क्स

Tag Archives: कार्ल मार्क्स

मनुष्यता को बचाने का एक ही विकल्प है : कार्ल मार्क्स की “वापसी”

Karl Marx

आज के दौर में नौजवानों से चंद बातें… ये बातें “बुद्धि” और व्यावहारिकता के अपच-गैस से पीड़ित लोगों, या महज “वाद-विवाद-संवाद” का आनंद लेने वाले ‘खलिहर’ निठल्लों या बाल की खाल निकाल कर ढोलक छवाने वाले गुणी जनों के लिए नहीं हैं ! घोंसलावादी “सद्गृहस्थों” के लिए भी नहीं हैं ! अगर आप थोड़ा लीक से हटकर चलने के बारे …

Read More »

अब हम घेटो यानी बंद समाज, बर्बर समाज की इकाई बन गए हैं

Karl Marx

घेटो यानी बंद समाज से कैसे निकलें ! कार्ल मार्क्स की पुण्यतिथि पर विशेष | Special on the death anniversary of Karl Marx कम्युनिस्ट घोषणापत्र का पहला पैराग्राफ बहुत ही महत्वपूर्ण है और आज भी प्रासंगिक है, लिखा है, “यूरोप को एक भूत आतंकित कर रहा है-कम्युनिज्म का भूत। इस भूत को भगाने के लिए पोप और ज़ार, मेटर्निख़ और …

Read More »