Home » Tag Archives: किसान (page 4)

Tag Archives: किसान

नए कृषि कानून और उसकी वैधानिकता

Farmers Protest

New Agricultural Laws and its Legalities : Vijay Shankar Singh नए कृषि कानूनों को लेकर 26 नवम्बर से किसानों का आंदोलन चल रहा है और तब से किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर हज़ारों की संख्या में इस सर्दी में बैठे हैं। लोग उन कानूनों पर बहस भी कर रहे हैं और सरकार की किसानों से बातचीत भी चल रही …

Read More »

किसान आंदोलन : मोदीजी के 56 इंच के लिए देश अपना नुकसान नहीं कर सकता

Modi-Adani-Ambani effigies burnt all over the state, two leaders of Kisan Sabha arrested in Marwahi

किसानों के आंदोलन पर एल. एस. हरदेनिया की टिप्पणी News & Politics/Avid News Readers: LS Herdenia commented on the farmers’ movement आजादी के बाद दो महाआंदोलन हुए जिनके सामने तत्कालीन केंद्रीय सरकारों को झुकना पड़ा। इनमें से पहला आंदोलन 1956-57 में हुआ था और दूसरा 1965 में। पहले आंदोलन का संबंध महाराष्ट्र राज्य के निर्माण से था। आंध्र में भाषा …

Read More »

मर जवान मर किसान/ फिर भी मेरी सरकार महान

Modi-Adani-Ambani effigies burnt all over the state, two leaders of Kisan Sabha arrested in Marwahi

 ये भी तबाह, वो भी परेशान लगाओ सिर्फ नारा पूरी ताकत से, जय जवान, जय किसान। यह कड़ाके की ठंड, बॉर्डर पे जवान  बॉर्डर पे किसान किसानों की  ये बदहाली और देश मेरा कृषि प्रधान लगाओ सिर्फ नारा पूरी ताकत से, जय जवान ,जय किसान। रहनुमा हमारे बेजार हो कर सो गए कहते हैं फ़ला के कहने से किसान गुमराह …

Read More »

सभ्यता के इतिहास के पैमानों पर भारत का किसान संघर्ष

Farmers Protest

India’s peasant struggle on the scale of history of civilization भारत का किसान (Farmer of india) लगता है जैसे अपनी कुंभकर्णी नींद से जाग गया है। अपने इतने विशाल संख्या-बल के बावजूद संसदीय जनतंत्र (Parliamentary democracy) में जिसकी आवाज का कोई अलग मायने नहीं रह गया था, फिर भी वह गांव के शांत जीवन में अपनी आत्मलीन चौधराहट की ठाठ …

Read More »

क्या सर्वोच्च न्यायालय किसानों पर मोदी के अन्याय को लाद देने की फ़िराक़ में है ?

Supreme court of India

Is the Supreme Court in favour of inflicting injustice of Modi on farmers? क्या सर्वोच्च न्यायालय आरएसएस के किसान संगठनों से समझौता करके भारत के किसानों पर मोदी के अन्याय को लाद देने की फ़िराक़ में है ? जिस सर्वोच्च न्यायालय ने असंवैधानिक नोटबंदी पर चुप्पी साधे रखी, जीएसटी के आधे-अधूरेपन पर कुछ भी कहने से गुरेज़ किया, खुद से …

Read More »

राष्ट्रहित सर्वोपरि : किसान जीतेगा तो देश जीतेगा, 130 करोड़ भारतवासी जीतेंगे

Farmers Protest

National interest is paramount: if the farmer wins then the country wins, 130 crore Indians will win तीन कृषि कानूनों और बिजली संशोधन विधेयक की वापसी के मुद्दे पर, सरकार और किसानों के बीच गतिरोध खत्म होने के फिलहाल कोई आसार नहीं हैं। प्रधानमंत्री के विशेष रूप से विश्वस्त, गृहमंत्री अमित शाह के प्रत्यक्ष हस्तक्षेप के बाद, जब यह साफ …

Read More »

उपवास पर अन्नदाता और छप्पन भोग पर सरकार

Today's Deshbandhu editorial

देशबन्धु में संपादकीय आज | Today’s Deshbandhu editorial भारत विकास की कैसी राह पर चल पड़ा है, इसकी व्याख्या इस एक वाक्य से की जा सकती है कि देश का पेट भरने वाले अन्नदाता किसान सोमवार को एक दिन के उपवास पर रहे। 2014 में सत्ता संभालने से पहले जब यूपीए सरकार की नीतियों (UPA Government Policies) को महापाप की …

Read More »

किसान आंदोलन से पता चला है कि भारतीय किसानों में हनुमानजी की शक्ति है

ustice Katju on Kisan protest

The peasant movement has shown that Indian farmers have the power of Hanumanji जस्टिस मार्कंडेय काटजू, पूर्व न्यायाधीश, सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया तुलसी दास के रामचरित मानस के ‘किष्किन्धाकाण्ड’ में ये पंक्तियाँ हैं : कहइ रीछपति सुनु हनुमाना। का चुप साधि रहेहु बलवाना॥ पवन तनय बल पवन समाना। बुधि‍ बिबेक बिग्यान निधाना॥ कवन सो काज कठिन जग माहीं। जो नहिं …

Read More »

सरकार अपनी जनता को बेसहारा नहीं छोड़ सकती – अखिलेन्द्र

Akhilendra Pratap Singh

राजस्थान-हरियाणा बार्डर पर किसानों के धरने को किया सम्बोधित हिन्दुस्तान के इतिहास में नए किस्म का आंदोलन A new type of movement in the history of India राजस्थान-हरियाणा बार्डर, 14 दिसम्बर 2020  : कोई भी सरकार अपनी जनता को बेसहारा नहीं छोड़ सकती। सरकार की जिम्मेदारी है कि वह अपने किसानों की उपज की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की …

Read More »

सहकारी खेती को मजबूत करे सरकार, नेताओं व अन्नदाता किसानों पर दमन सरकार के डर का प्रतीक-एआईपीएफ

BJP-RSS government bent on suppression due to successful farmer movement

The government should strengthen cooperative farming, repression on politicians and farmers symbolizes fear of government – AIPF पूरे प्रदेश में एआईपीएफ कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन AIPF workers demonstrated across the state लखनऊ, 14 दिसम्बर 2020, सरकार अगर छोटे-मझोले किसानों के प्रति ईमानदार है तो उसे कांट्रैक्ट फार्मिंग (Contract farming) के जरिए उन्हें कारपोरेट के सामने मरने के लिए छोडने की …

Read More »

कृषि क्रांति की दिशा : कारपोरेट हमले के खिलाफ जुझारू किसान

Modi government is Adani, Ambani's servant. Farmers and workers will uproot it - Randhir Singh Suman

The peasant movement has shaken the foundation of the Modi government. किसान आंदोलन ने मोदी सरकार की बुनियाद हिला दी है। उसके फासीवादी दमन की धज्जियां उड़ा दी हैं। अमेरिका, विश्व व्यापार संगठन (WTO) और कारपोरेट पूंजीपतियों के दबाव में आरएसएस/भाजपा द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलित हैं। इन कानूनों के कारण लाखों गरीब और छोटे …

Read More »

जस्टिस काटजू का लेख : विशाल जागरण है, किसान आंदोलन ने हमारी एकता की नींव रखी

Farmers Protest

The giant is awakening: The ongoing farmers’ agitation has laid the foundation of our unity. सोते हुए विशाल काय ( giant ) को सोने दो, जब वह जागेगा, तो दुनिया को हिला देगा” उपरोक्त नेपोलियन का कथन चीन के बारे में था। लेकिन यह अब भारतीय महाद्वीप पर भी लागू होता है। मैं निराश हो गया था, क्योंकि मैं सोचता …

Read More »

मोदी नहीं जानते कि वे क्या कर रहे हैं ?’ अर्थात् वे खुद को बेपर्द कर रहे हैं

Modi with Ambani Tata

Modi does not know what he is doing? That means he is exposing himself. कल मोदी ने खुद वणिकों की एक सभा को संबोधित करते हुए कह दिया कि वे किसानों की भलाई के लिए जो कदम उठा रहे हैं, उनसे उद्योगपतियों के पंजे से अभी तक बचा हुआ कृषि क्षेत्र भी उनके लिये पूरी तरह से खुल जाएगा; अर्थात् …

Read More »

मोदीजी, किसान आंदोलन तो हाईजैक नहीं हुआ है, बल्कि यह सरकार हाईजैक कर ली गयी है

Narendra Modi flute

Modiji, the farmer movement has not hijacked, rather this government has been hijacked: Vijay Shankar Singh सरकार को उम्मीद थी कि रेलवे और अन्य सार्वजनिक प्रतिष्ठानों में निरन्तर कॉरपोरेट की दखल बढ़ाते हुए और रेलवे की लोक कल्याणकारी योजनाओं (Public welfare schemes of railways) को बंद करते हुए उसे न तो रेल या सरकारी कर्मचारियों का विरोध झेलना पड़ा है …

Read More »

तीन नए कृषि कानूनों के बारे में जानिए सब कुछ, कैसे ये देश के लिए हानिकारक हैं

CITU

तीन नए कृषि कानूनों का एक विश्लेषण | An analysis of three new agricultural laws इस आलेख में सुप्रसिद्ध अर्थशास्त्री जया मेहता (Economist Jaya Mehta) समझा रही हैं कि तीन नए कृषि कानूनों का विरोध किया जाना क्यों जरूरी है (Why it is important to oppose three new agricultural laws), मौजूदा किसान संघर्ष की पृष्ठभूमि क्या है (What is the …

Read More »

मोदी ने बताया खराब क्वालिटी के बावजूद 13 सालों में पंजाब ने नहीं मप्र ने खरीदा सबसे ज्यादा गेहूँ, क्यों ?

BJP-RSS government bent on suppression due to successful farmer movement

Despite the poor quality, in 13 years, not Punjab, but Madhya Pradesh bought the maximum wheat, why? केंद्र सरकार ने मप्र को 80% तक कमजोर गेहूं खरीदने की छूट दी 13 सालों में मप्र में गेहूँ की सरकारी खरीदी लगभग 230 गुणा बढ़ी है! इस आलेख में मप्र में किसान आंदोलन,मप्र में गेहूं की सरकारी खरीद, Government procurement of wheat …

Read More »

अगर आप को लगता है कि नया कृषि कानून केवल किसानों का ही अहित करेगा तो जनाब जरा सावधान हो जाएं

Farmers Protest

नए कृषि कानूनों के विधिक परीक्षण की आवश्यकता है Farm bills 2020 explained | new bill for farmers in hindi अगर आप को लगता है कि नया कृषि कानून केवल किसानों का ही अहित करेगा तो यह आप का भ्रम है। कृषि और किसानों के विषय पर नियमित अध्ययन और लेखन करने वाले पत्रकार, पी साईंनाथ ने द वायर में …

Read More »

पीएम का चंदौली वाला जुमला ‘काला चावल’ सब्जबाग

Narendra Modi flute

Chandauli district status rejects PM Modi’s ground reality अभी हाल ही में मोदी जी ने वाराणसी दौरे के समय अपनी सरकार द्वारा लाए कृषि कानूनों पर बात रखते हुए वाराणसी से अलग होकर बने चंदौली जनपद के किसानों द्वारा काला चावल प्रजाति के चावल की खेती के अनुभव (Experiences of rice cultivation of black rice species) बताते हुए कहा कि …

Read More »

जानिए नये कृषि कानून में शर्मनाक जमाखोरी को क्यों वैध बनाया गया है ?

CITU

Know why hoarding has been legalized under the new agricultural law? : Vijay Shankar Singh 8 दिसंबर, को किसानों ने अपनी मांगों के समर्थन में भारत बंद (Bharat Bandh) का आह्वान किया था। बंद सफल रहा। सबसे उल्लेखनीय बात थी कि, इस बंद में देश मे कहीं से भी हिंसा के समाचार नहीं मिले। लंबे समय के बाद, देश में …

Read More »

जस्टिस काटजू ने किसान आंदोलन को सराहा, दुआ की – भारतीय किसान लंबे समय तक जीवित रहें

Justice Markandey Katju

Justice Katju praised the peasant movement – Long live the Indian farmers! नई दिल्ली, 11 दिसंबर 2020. सर्वोच्च न्यायालय के अवकाशप्राप्त न्यायाधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलन की सराहना करते हुए भारतीय किसानों की लंबी उम्र की कामना की है। हस्तक्षेप डॉट कॉम के अंग्रेजी पोर्टल https://www.hastakshepnews.com/ पर अंग्रेजी में लिखे एक लेख में जस्टिस …

Read More »

किसान कानूनों को वापस कराने को सब कुछ भूल बस किसान बनना होगा!

Farmers Protest

किसान कानूनों पर सरकार का प्रस्ताव ठुकराने के बाद किसान आंदोलन ने एक नया मोड़ ले लिया है। किसानों ने सरकार पर दबाव बनाने के लिए जहां जनप्रतिनिधियों को घेरने के साथ ही विभिन्न राजमार्ग जाम करने की नीति बनाई है तो मोदी सरकार किसान संगठनों में फूट डालकर आंदोलन को तोड़ने में लग गई है। इसमें दो राय नहीं …

Read More »